DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत में सुधार गति धीमी हुई: यूएस

अर्थव्यवस्थाओं के विकास और लोगों की खुशहाली के लिए खुलेपन को जरूरी शर्त बताते हुए बुश प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी का आकलन है कि स्वस्थ विकास के बावजूद भारत में सुधारों की चाल बहुत ही धीमी हो गई है। अमेरिका के वाणिज्य सचिव कार्लोस गुटिएरा ने कहा, ‘1में तब के वित्तमंत्री मनमोहन सिंह ने तेज सुधार शुरू किए थे और भारत तब सालाना 8.5 फीसदी की विकास दर को प्राप्त करने लगा था। यह भारत की आजादी के बाद से तबतक की दर से लगभग दुगुना थी। इसका संकेत साफ है कि तेज भारत को खुला होना होगा, तेज भारत ही विकास करेगा। हालांकि हम अब इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि भारत में सुधारों की चाल बहुत धीमी हो गई है। हम यह मानते हैं कि बाजार में पहुंच के मामले में सुधार हुआ है, निवेश प्रतिबंधों में ढिलाई आई है। लेकिन करों में रियायत और खाद्य पदार्थो के व्यापार पर लगे प्रतिबंधों को भी समाप्त करने की दिशा में बढ़ते रहना होगा। यही भारत के लिए अच्छा होगा।’ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत में सुधार गति धीमी हुई: यूएस