DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दहेज नहीं दिया तो पति ने कर ली दूसरी शादी

 भागलपुर, वरीय संवाददाता। सवा साल पहले समां परवीन और इिम्तयाज के प्रेम प्रसंग पर पंचायत ने मुहर लगाई थी और 30 िदसंबर 2012 को चमेलीचक स्थित जामा मस्जिद में दोनों पक्षों की मौजूदगी में शादी हुई थी। एक पैर से विकलांग समां को शादी के महीने भर बाद ही पित ने धोखा देना शुरू किया।

छह महीने पहले हबीबपुर थाने में पंचायत भी हुई लेकिन इिम्तयाज समां को रखने पर राजी नहीं हुआ। महिला थाने पहुंची समां का आरोप है कि दहेज नहीं देने के कारण पित ने महीने भर पहले नेपाल में दूसरी शादी कर ली है। हबीबपुर थाना क्षेत्र के अंजाननगर की रहने वाली समां परवीन ने बताया कि अक्टूबर, 2012 में मोबाइल पर िमस्ड कॉल आया था। फिर दोनों में बातचीत शुरू हो गई। इिम्तयाज चमेलीचक नया टोला का रहने वाला है और कपड़े का कारोबार करता है।

मोबाइल पर बातचीत के दौरान इिम्तयाज ने मिलने की बात कही। दोनों एक-दूसरे से दीपप्रभा टॉकिज में मिले और इिमत्याज ने शादी का प्रस्ताव दिया। चमेलीचक पंचायत में शादी के लिए आवेदन दिया। पंचायत के सदर बर्दी खान ने दोनों पक्षों से बातचीत की। मस्जिद में शादी हुई लेकिन शादी के बाद ससुर ताज अंसारी ने पित को भड़काना शुरू किया और 50 हजार रुपए दहेज की मांग की। पिता मो. अब्बास की मौत के कारण विधवा मां के लिए दहेज देना संभव नहीं था।

तीन भाइयों में समां इकलौती है। महिला थाना प्रभारी रीता कुमारी ने समां की शिकायत को गंभीरता से लिया गया है। शिनवार को थाने के एएसआई को जांच के लिए इिम्तयाज के घर पर भेजा लेकिन पुलिस को देखते ही घर के पुरुष भाग गए। थाना प्रभारी ने कहा कि प्रेम प्रसंग के बाद समां और इिमत्याज की विधिवत शादी हुई थी लेकिन दहेज के लिए प्रतािड़त करना और दूसरी शादी कर लेना गंभीर मामला है। इिमत्याज अगर थाने पर आकर अपना पक्ष नहीं रखेंगे तो रिपोर्ट दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दहेज नहीं दिया तो पति ने कर ली दूसरी शादी