DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गांधी मैदान में सजा शिल्प कला का बाजार

कार्यालय संवाददाता पटना। गांधी मैदान में शिल्प और हस्तकला के शौकीन रविवार को बड़ी तादाद में जुटे थे। मौका था शिल्प मेला का। मेले में लोग मुरादाबाद के ब्रास मेटल और राजस्थानी मोजरी की खरीदारी करते देखे गए। पुरुष जहां ब्रास के दूरबीन, पीतल की बैट्री, मोबाइल चार्जर चािलत पंखा की खरीदारी कर रहे थे। वहीं, महिलाओं और युवितयों की भीड़ राजस्थानी मोजरी के स्टॉल पर िदख रही थी।

गांधी शिल्प मेला भारत सरकार वस्त्र मंत्रालय, विकास आयुक्त व कस्तूरबा महिला विकास कल्याण सिमित की ओर से लगाया गया है। मेले में विभिन्न प्रदेशों से आए 150 से अधिक कलाकारों ने स्टॉल लगाए हैं। मेले में भागलपुरी िसल्क, घर को सजाने वाली वस्तुएं संग लजीज व्यंजन का स्टॉल लगा है। मुरादाबाद से आए कलाकार मो. आमीर ने बताया कि मुझे मेरे पूर्वजों से यह कला विरासत में मिली है। मेरे स्टॉल पर 30 से लेकर 300 रुपए के तक के कई आइटम हैं।

राजस्थान से आए राजेंद्र कुमार मोजरी (कढ़ाई किए हुए जूते) का स्टॉल सजाए हुए थे। उन्होंने बताया कि अभी शादी-विवाह का सीजन चल रहा है। इसलिए मेरे स्टॉल पर दूल्हा-दुल्हन के लिए विभिन्न प्रकार की मोजरी उपलब्ध है। 175 रुपए से 450 रुपए तक के मोजरी आइटम इस स्टॉल से खरीदे जा सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गांधी मैदान में सजा शिल्प कला का बाजार