DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीपीओ, रोजगार सेवकों पर लाखों का जुर्माना

गिरिडीह प्रतिनिधि। नगर भवन में रविवार को सामाजिक अंकेक्षण पर जन सुनवाई कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में डीसी ने कहा कि जिले में मनरेगा में सिर्फ लगभग दो हजार लोग काम कर रहे हैं। बावजूद इसके मनरेगा का संचालन सफलतापूर्वक नहीं हो रहा है। मजदूरों को मजदूरी का भुगतान समय पर नहीं किया जा रहा है। डीडीसी दिनेश प्रसाद ने जिला स्तर पर मनरेगा के प्रगति प्रतविेदन एवं कार्रवाई पर व्याख्यान दिया।

जन सुनवाई कार्यक्रम में जिले के सभी 13 प्रखंड के एटीआर की प्रस्तुति एवं चर्चा संबंधित प्रखंडों के बीडीओ द्वारा किया गया। स्टेट रिसोर्स परसन रामदेव वशि्वबंधु एवं वशि्वनाथ सिंह ने सामाजिक अंकेक्षण जबकि जिला परिषद अध्यक्ष मुनिया देवी ने जन सुनवाई पर विचार रखे। स्टेट रिसोर्स पर्सन रामदेव वशि्वबंधु ने बताया कि मजदूरों को काम नहीं देने के कारण बेंगाबाद प्रखंड के बीपीओ, कंम्पयूटर ऑपरेटर व संबंधित पंचायत के ग्राम रोजगार सेवकों को 2 लाख 84 हजार रुपए जुर्माना करने का निर्देश दिया है।

उन्होंने बताया कि पिछले माह बेंगाबाद प्रखंड में काम मांगो अभियान चलाया गया था। नया सवेरा विकास केंद्र को 15 एवं अभवि्यक्ति फाउंडेशन को 10 पंचायत में काम मांगों अभियान की जिम्मेवारी सौंपी गई थी। इस अभियान के दौरान लगभग आठ हजार मजदूरों ने काम मांगा जिन्हें 15 दिनों के बाद भी काम नहीं दिया जा सका। इसी को लेकर डीसी द्वारा बेंगाबाद प्रखंड के बीपीओ, एमआइएस इंट्री करनेवाले कंप्यूटर ऑपरेटर एवं संबंधित पंचायत के ग्राम रोजगार सेवक को जुर्माना किया गया है।

जन सुनवाई कार्यक्रम में नया सवेरा विकास केंद्र के बैजनाथ बैजू समेत विभिन्न प्रखंडों के बीडीओ, बीपीओ, पंचायत सेवक, ग्राम रोजगार सेवक आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीपीओ, रोजगार सेवकों पर लाखों का जुर्माना