DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो दिन पहले भाजपा ने दिया था टिकट का ऑफर

रांची। ब्यूरो प्रमुख। तिलेश्वर साहू के बढ़ते कद का अहसास दूसरे दलों को भी था। यही वजह है कि दो दिन पहले ही भाजपा के एक वरीय नेता ने तिलेश्वर साहू को फोन कर टिकट का ऑफर दिया था। कहा था कि वे भाजपा में आ जाएं। पार्टी उन्हें चतरा लोकसभा सीट से उम्मीदवार बना देगी। हालांकि साहू इनकार कर गए। उन्होंने कहा कि वे आजसू नहीं छोड़ेंगे।

उनकी चुनावी तैयारी काफी आगे बढ़ चुकी है। इनकार के बावजूद भाजपा नेता ने उनसे विचार करने का अनुरोध किया था। पार्टी के एक सांसद भी चाहते थे कि साहू भाजपा में आ जाएं। भाजपा का मानना था कि तिलेश्वर के आने से उसे हजारीबाग और चतरा लोकसभा क्षेत्र में जातिगत फ्रंट पर उसे फायदा मिल सकता है। साहू पिछले तीन-चार सालों से बरही विधानसभा से भी चुनावी तैयारी कर रहे थे। इसके लिए उसी क्षेत्र में घर लेकर रह रहे थे।

2005 में भाजपा को की थी मदद 2005 में अर्जुन मुंडा की सरकार बनवाने में तिलेश्वर साहू का भी योगदान था। एनोस एक्का से समर्थन दिलाने में तिलेश्वर ने अहम भूमिका निभाई थी। जब एनडीए विधायकों का राष्ट्रपित के सामने परेड हुआ था, उस दौरान तिलेश्वर भी वहां मौजूद थे।

विधायकों को जयपुर ले जाया गया, तो साथ में तिलेश्वर भी गए थे। बाद में अर्जुन मुंडा सरकार ने उन्हें राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का अध्यक्ष बनाया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो दिन पहले भाजपा ने दिया था टिकट का ऑफर