DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच लाख की इनामी महिला नक्सली का समर्पण

राउरकेला। ओडिशा-आंध्रप्रदेश की सीमा पर सक्रिय कालीमेला दल की कुख्यात महिला नक्सली तथा डिवीजनल कमेटी की सदस्य संध्या उर्फ देबे पडिम्यामी ने शनिवार की सुबह मालकानगिरि एसपी अखिलेश सिंह एवं डीआईजी यशवंत जेठुआ के समक्ष समर्पण कर दिया। डीआईजी यशवंत जेठुआ एवं एसपी अखिलेश सिंह ने पत्रकारों को बताया कि संध्या मालकानगिरि जिले के कुरूकोंडा थाना अंतर्गत कुरूब-नामेलगुड़ा की रहनेवाली है। उसके पति का नाम टेला अनिल कुमार उर्फ चंदू है।

चंदू नक्सलियों का इंटेलीजेंस चीफ था। फिलहाल वह जेल में बंद है। अधिकारियों ने बताया कि संध्या ने वर्ष1997 में नक्सली नेता रामन्ना एवं लोकनाथ के बहकावे में आकर नक्सली पार्टी ज्वायन की थी। इसके बाद वह ओडिशा एवं आंध्रप्रदेश में घटित अनेक हिंसक घटनाओं में शामिल रहीं। कोरापुट जेल हमला, राजगिरि नरसंहार, कुनेर थाना हमला, आर उदयगिरि जेल हमला एवं दामनजोड़ी अल्युमिनियम कंपनी में हमला समेत हत्या एवं आगजनी के दस से ज्यादा मामलों को उसने अंजाम दिया है।

बहुत दिनों से पुलिस को उसकी तलाश थी। पिछले दिनों संध्या ने समाज की मुख्य धारा से जुड़ने का फैसला किया। पुलिस ने उसके फैसले का स्वागत किया और वादे के तहत उसे समाज की मुख्य धारा से जुड़ने का अवसर दिया।

पुलिस ने उसे एसपी कार्यालय में बुलायी गई प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों के समक्ष पेश भी किया। अबतक 70 लक्सलियों ने डाले हथियार डीआईजी ने कहा कि एक साल के दौरान करुणा, मुक्का, सविता एवं मलेश जैसे कुख्यात समेत कुल 70 नक्सलियों ने पुलिस के समक्ष हथियार डाले हैं।

पुलिस बाकी भटके लोगों को भी मौका देना चाहती है। एसपी ने बताया कि संध्या को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पांच लाख की इनामी महिला नक्सली का समर्पण