DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फ्लायर वैन न आने से निराश हुए मोदी समर्थक

नौपेड़वा। हिन्दुस्तान संवाद। क्षेत्र के ब्राह्मणपुर बरखण्डी, खमपुर व हैदरपुर गांव के लोग नरेन्द्र मोदी के लाइव प्रसारण को देख तो सके लेकिन लाइव प्रसारण वैन न आने से लोग प्रश्न नहीं पूछ सके जिससे सबको निराशा हाथ लगी। सिटिजन्स फार अकाउंटेबल गवर्नेस नामक संस्था के साथ चाय पर चर्चा कार्यक्रम के दूसरे भाग में मोदी और भारत सहित जनता के बीच सीधी बातचीत करने के लिए यह आयोजन किया गया था।

शनिवार शाम छह बजे प्रसारण शुरू हो चुका था। देर तक इंतजार करने के बाद जब वैन नहीं आई तो लोगों में आक्रोश उभरा। ब्राह्मणपुर बरखण्डी में अशोक जायसवाल, व्यापारी एवं सरकारी शोषम के बाबत तथा खमपुर में आकांक्षा उपाध्याय ने महिला आरक्षण पर सवाल करना चाहती थीं। क्षत्रधारी सिंह टिकट घोषणा में देरी होने पर सवाल करने वाला था। इसके पूर्व ब्राह्मणपुर बरखण्डा में ईश्वरदेव सिंह, हैदरपुर में हरशि्चन्द्र सिंह, खमपुर में सुशील उपाध्याय ने कार्यक्रम का उद्घाटन किया।

इस मौके पर डा,हरेन्द्र प्रसाद सिंह, डा.ज्ञानदेव द्वविेदी, अशोक जायसवाल, परमानन्द, सतीश पाण्डेय, संदीप त्रिपाठी, लाल प्रताप यादव, क्षत्रधारी सिंह समेत अन्य मौजूद रहे। बाल अधिकार विषय पर गोष्ठीकेराकत। ‘बाल अधिकार और सुरक्षा’ विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

स्वयं सेवी संस्था मानव सेवा केन्द्र द्वारा आयोजित संगोष्ठी में करीब एक दर्जन लोगों ने अपने-अपने विचार रखे। मानिटरिंग आफसिरे रूप प्रालित ने कहा कि बच्चों के समुचित विकास के लिए बाल सुलभ वातावरण का निर्माण करना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

डोभी ब्लाक के को-अर्डिनेटर अनिल तिवारी ने बच्चों के जन्म पंजीकरण के फायदे और उसकी जरूरत के बारे में बताया। दीपक कुमार ने बताया कि बाल श्रम जुर्म है। संगोष्ठी में किरन सिंह, कामता प्रसाद, बीके सिंह, विनय पाण्डेय ने भी अपनी-अपनी जानकारी साझा की।

इस मौके पर दिनेश शुक्ल एडवोकेट, वमिल किशोर, चंद्रशेखर सिंह, अनिलकुमार शर्मा, लवकुश श्रीवास्तव, मोहम्मद एखलाक, वरूण पाण्डेय और विकास तिवारी सहित अनेक लोग मौजूद रहे। संचालन केराकत ब्लाक के को-आर्डिनेटर दीपक कुमार ने किया।सभी आगंतुकों और सहयोगियों के प्रति आभार जताया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फ्लायर वैन न आने से निराश हुए मोदी समर्थक