DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रैक्टर-ट्रालियों से गन्ना ढुलाई पर अदालत सख्त

निघासन-खीरी। हिंदुस्तान संवाद। खेती में प्रयोग के लिए रजिस्ट्रेशन कराने के बाद गन्ना सेंटरों से ट्रैक्टर-ट्रालियों के जरिए किराए पर चीनी मिलों तक गन्ना ढोए जाने पर हाईकोर्ट ने सख्त रुख अपनाया है। एक जनहित याचिका पर हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार के लोक निर्माण विभाग के मुख्य सचवि समेत कई और अफसरों को इस पर निगाह रखने और कार्रवाई की हिदायत दी है।

निघासन कस्बे के हरसुखपाल सिंह उर्फ हैप्पी नागरा ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की थी। इसमें कहा गया था कि इलाके के लोग ट्रैक्टर-ट्राली का खेती में उपयोग करने का मकसद दिखाकर रजिस्ट्रेशन कराते हैं लेकिन बाद में इनका उपयोग व्यावसायिक रूप में करने लगते हैं। इस इलाके में तमाम ट्रैक्टर-ट्रालियां इस तरह के नाजायज कारोबार में लगी हैं। चीनी मिलों से ठेका लेकर इनके जरिए गन्ना सेंटरों से मिल तक गन्ना ढोने का काम किया जा रहा है।

इससे एक तरफ तो कृषि कार्य के लिए उपयोग दिखाकर टैक्स की चोरी की जा रही है तो दूसरी तरफ एक ट्रैक्टर में दो-दो चारपहिया ट्रालियां जोड़कर क्षमता से ज्यादा ढुलाई की वजह से सड़कें क्षतिग्रस्त होती हैं। इस याचिका पर सुनवाई करने के बाद अदालत ने मोटर वाहन एक्ट में पहले से प्रभावशाली प्रावधान होने का हवाला देते हुए इनके सही क्रियान्वयन की जरूरत जताई। अदालत ने आरटीओ को समय-समय पर नगिरानी और चेकिंग कर एक्ट के प्रावधानों का अनुपालन सुनशि्चित करने और इसकी मासिक रिपोर्ट डीएम को देने की हिदायत दी।

साथ ही डीएम को इस संबंध में आने वाली शिकायतों पर जरूरी कार्रवाई करने को कहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ट्रैक्टर-ट्रालियों से गन्ना ढुलाई पर अदालत सख्त