DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला दिवस पर गैंगरेप की घटना ने किया शर्मसार

खुर्जा। हमारे संवाददाता। एक ओर जहां पूरी दुनियां अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मना रही थी वहीं, हाईवे के गांव खलसिया के जंगलों में दलित युवती से सामूहिक दुष्कर्म की घटना ने सभी को शर्मसार कर दिया। खलसिया में हुई गैंगरेप की घटना ने दिल्ली के दामिनी प्रकरण की याद ताजा करके पुलिस व्यवस्था की धज्जियां उड़ाकर रख दी हैं। दिल्ली दामिनी गैंगरेप प्रकरण के बाद कानून की धार भले ही कितनी ही पैनी हो गई है, लेकिन अपराधियों में कानून का खौफ किसी भी तौर पर नजर नहीं आ रहा।

हाईवे स्थित गांव खलसिया के जंगल में चार हवस के दरिंदे हैवानियत की सारी हदें लांघकर बारी-बारी से गैंगरेप कर रहे थे। जबकि यह घटनास्थल स्थल हाईवे से महज 50 मीटर की दूरी पर था। यूं तो हाईवे की घटनाओं पर नजर रखने के लिए 24 घंटे हाईवे पुलिस तैनात रहती है, लेकिन हाईवे पुलिस कहीं चैन की नींद सो रही थी। पीड़ित युवक ने किसी तरह साहस दिखाया और आरोपियों के चंगुल आजाद हो गया था। वह दौड़ता गया और पुलिस का पता पूछता रहा।

इसी बीच राहगीरों ने उसे खुर्जा देहात थाने का पता बताया। जो घटनास्थल से महज 200 मीटर की दूरी पर है। जहां चुनाव को लेकर ग्रामीणों को दिशा-निर्देश दिए जा रहे थे। बुरी तरह डरे-सहमे हाफते पीड़ित ने गैंगरेप की सूचना दी। खबर लगते ही थानाध्यक्ष दलबल के साथ दौड़ता हुए पहुंचे तो आरोपी वारदात को अंजाम देते हुए मिले। हालांकि दो ही आरोपियों को पुलिस हिरासत में ले पाई। इसे पुलिस की खोखली कार्रवाई का नतीजा कहें या कुछ और।

पीड़िताएं दुदर्शा पर आंसू बहाती रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महिला दिवस पर गैंगरेप की घटना ने किया शर्मसार