अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फुलवारीशरीफ में चेचक का प्रकोप!

प्रखंड के बहादुरपुर गांव में छोटे छोटे बच्चों के शरीर में लाल-लाल फोड़े से परिवार के लोग खासे परशान दीख रहे हैं। ग्रामीण ने इसे चेचक की बात बतायी है। वहीं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी ने इसे वायरल डिजीज बताया है, जिसका कोई इलाज नहीं है। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व अप्रैल माह में ईसापुर एवं अलीमजान नगर में चिकेन फैक्स की शिकायत मिली थी। गांव के गौतम कुमार, करिश्मा कुमारी, सौरभ कुमार सहित कई बच्चे इसकी चपेट में है। बहादुरपुर के राजकुमार सिंह, महेन्द्र प्रसाद, संजय कुमार ने एक स्वर में बताया कि यहां चेचक का प्रकोप बढ़ने लगा है। इसकी चपेट में गांव के कई परिवार के लोग आ गये है।ड्ढr ड्ढr प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी डा. ए.एन.झा ने बताया कि उससे होने वाले साइड इफेक्ट का दवा शुरू किया जायेगा। इसके अलावा जो बच्चे इसकी चपेट से बचे हुए है उन्हें जलल्द ही टीकाकरण किया जायेगा। एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि चेचक का प्रकोप अप्रैल से आधा मई माह के बीच फैलता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फुलवारीशरीफ में चेचक का प्रकोप!