DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिलाओं को खुद अपनी पहचान बनानी होगी

लखनऊ। निज संवाददाता। महिलाओं को अपनी खुद की पहचान बनानी होगी, समाज व परिवार में सम्मानजनक स्थान पाने व हिंसा के विरोध में महिलाओं को आवाज उठानी होगी। तभी महिलाओं को उनका अधिकार मिल सकता है। यह बात ‘अन्तराष्ट्रीय महिला दिवस’ के अवसर पर शनिवार को भारतीय महिला फेडरेशन की ओर से महिला हिंसा, उत्पीड़न, हत्या व बलात्कार के विरोध में आयोजित संगोष्ठी के दौरान मुस्लिम महिला आन्दोलन की नाइस हसन ने कहीं। उन्होंने महिलाओं को सामाजिक कुरीतियों, परम्पराओं एवं अंधवशि्वास से बाहर निकलने की अपील की।

फेडरेशन की जिला अध्यक्ष कान्ती सिंह ने महिलाओं पर हो रहे अत्याचार के विरोध में समाज के लोगों से आगे आने की अपील की। किरन सिंह ने महिलाओं को समाज में बराबरी का स्थान दिलाने व शिक्षा और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाने की मांग की। संगोष्ठी में सीमा आजाद, शकील सिद्धकी, अनीता सिंह आदि लोगों ने विचार दिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महिलाओं को खुद अपनी पहचान बनानी होगी