DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्नाटक में भाजपा ने फिर लगाया येद्दयुरप्पा पर दांव

कर्नाटक में भाजपा ने फिर लगाया येद्दयुरप्पा पर दांव

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कर्नाटक की सरकार गंवाने के बाद राज्य में खोई जमीन फिर हासिल करने के लिए हाल ही में पार्टी में वापसी करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येद्दयुरप्पा को आगे कर लोकसभा चुनाव लड़ने का निर्णय किया है।

पार्टी ने दक्षिण भारत के किसी राज्य में पहली बार उसे सत्ता तक पहुंचाने वाले येद्दयुरप्पा को शनिवार को शिमोगा लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाने की घोषणा कर राज्य की राजनीति में अच्छी खासी अहमियत रखने वाले लिंगायत समुदाय को एक बार फिर से साधने की कोशिश की है।

येद्दयुरप्पा को भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते पहले मुख्यमंत्री पद और फिर अंततः पार्टी छोड़नी पड़ी थी। इसके साथ ही भाजपा ने राज्य के दूसरे सबसे बड़े समुदाय वोककालिंगा को भी भरपूर तवज्जो देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री डीवी सदानंद गौड़ा को बेंगलुरु उत्तर संसदीय सीट से उम्मीदवार बनाया है।

इसके अलावा पूर्व केन्द्रीय मंत्री और सांसद अनंत कुमार को भी बेंगलुरु दक्षिण सीट से टिकट दिया गया है। हालांकि बेल्लारी बंधुओं के नाम से मशहूर श्रीरामुलु को फिर से पार्टी में शामिल करने तथा उनकी लोकसभा चुनाव में उम्मीदवारी पर कोई फैसला नहीं हो सका।

वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज की आपत्ति को देखते हुए फिलहाल इस बारे में कोई निर्णय नहीं लिया गया है। हालांकि पार्टी ने आधिकारिक तौर पर कहा है कि पार्टी में कोई मतभेद नहीं है और अभी राज्य की 20 सीटों के लिए उम्मीदवार घोषित किये गये हैं और 8 सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा की जानी है।

सूत्रों के अनुसार पार्टी की कर्नाटक इकाई ने रेड्डी को बेल्लारी सीट से उम्मीदवार बनाने की सिफारिश की थी। अब इस मामले में कोई भी निर्णय पार्टी की सर्वोच्च संस्था संसदीय बोर्ड की बैठक में लिया जायेगा।

पार्टी ने चुनाव समिति की बैठक में सुषमा स्वराज तथा पूर्वअध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी की कथित नाराजगी की खबरों का भी खंडन करते हुए कहा है कि ये दोनों बैठक से इसलिए जल्दी चले गये, क्योंकि उन्हें पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कहीं और जाना था।

भाजपा के महासचिव अनंत कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में यहां पार्टी मुख्यालय में हुई केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में दूसरी सूची में 52 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की। पार्टी इससे पहले 54 उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है और इसी के साथ वह अब तक 106 उम्मीदवारों के नाम तय कर चुकी है।

उन्होंने कहा कि 52 उम्मीदवारों में से कर्नाटक के 20, पश्चिम बंगाल के 17, असम तथा ओडिशा के पांच-पांच, केरल के तीन और त्रिपुरा की दो सीटें शामिल हैं। पार्टी ने दूसरी सूची में 16 मौजूदा सांसद, दो पूर्व मुख्यमंत्री, 9 अनुसूचित जाति, 5 अनुसूचित जनजाति के तथा दो महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है।

राज्यसभा के पूर्व सांसद चंदन मित्रा को पश्चिम बंगाल में हुगली से पहली बार लोकसभा का टिकट दिया है। इसके अलावा फिल्म अभिनेता निमू भौमिक को पश्चिम बंगाल की रायगंज सीट से टिकट दिया गया है। अनन्त कुमार ने बताया कि पार्टी ने ओडिशा विधानसभा के लिये 52 उम्मीदवारों की पहली सूची भी जारी कर दी है।

उन्होंने कहा कि पार्टी की केन्द्रीय चुनाव समिति की अगली बैठक 13 मार्च को होगी, जिसमें बाकी बची सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा की जायेगी।

उम्मीदवारों की राज्यवार सूचीः
असम: गुवाहाटी से श्रीमती बिजया चक्रवर्ती (वर्तमान सदस्य), मंगलदोई से रामेन डेका (वर्तमान सदस्य), नौगांव से राजेन गोहेन (वर्तमान सदस्य), जोरहाट से कामख्या प्रसाद तासा (प्रदेश उपाध्यक्ष), लखीमपुर से सर्वानंद सोनवाल (प्रदेश अध्यक्ष)।

कर्नाटक: चिक्कोडी से रमेश वी कट्टी (वर्तमान सदस्य), बेलगाम से सुरेश सी अंगड़ी (वर्तमान सदस्य), बगलकोट से पीसी गडडीगौदर (वर्तमान सदस्य) बीजापुर सुरक्षित से रमेश सी जिगाजिनागी (वर्तमान सदस्य), गुलबर्ग सुरक्षित से रेवु नायय बेलामगी (पूर्व मंत्री), रायचूर सुरक्षित से शिवनागौड़ा नायक, कोप्पल से संगन्ना ए कराडी, हवेरी से शिवकुमारी सी उदासी (वर्तमान सदस्य), धारवाड़ से प्रहलाद जोशी (वर्तमान सदस्य), उत्तर कन्नड से अनंत कुमार हेगड़े (वर्तमान सदस्य), दावनगेरम से जीएम सिद्धेश्वर (वर्तमान सदस्य), शिमोगा से बीएस येद्दयुरप्पा (पूर्व मुख्यमंत्री), दक्षिण कन्नड से नलिन कुमार कटिल (वर्तमान सदस्य), चित्रदुर्ग सुरक्षित से जनार्दन स्वामी (वर्तमान सदस्य), चमारराजनगर सुरक्षित से एआर कष्णा मूर्ति, बेंगलुरु ग्रामीण से पी मुनिराज गौड़ा (प्रदेश बीजेवाईएम अध्यक्ष), बेंगलुरु उत्तर से डीवी सदानंद गौड़ा (पूर्व मुख्यमंत्री), बेंगलुरु सेंट्रल से पीसी मोहन (वर्तमान सदस्य), बेंगलुरु दक्षिण से अनंत कुमार (वर्तमान सदस्य), चिक्कबल्लपुर से बीएन बछेगौड़ा (पूर्व मंत्री)।

केरल: कासरगोड से के सुरेन्द्रन (प्रदेश महासचिव), एरनाकुलम से एएन राधाकृष्णन (प्रदेश सचिव), तिरुवनंतपुरम से ओ राजागोपाल (पूर्व मंत्री)

ओडिशा: बारगढ़ से सुभाष चौहान (सह संयोजय सुरक्षा प्रकोष्ठ), मयूरभंज सुरक्षित से नेपोल रघु मुरमू, बालेश्वर से प्रताप सारंगी (वर्तमान विधायक), कालाहांडी से प्रदीप नायक (पूर्व मंत्री), कोरापुट सुरक्षित से शिबशंकर उल्का।

त्रिपुरा: त्रिपुरा पश्चिम से सुधींद्र दासगुप्ता (प्रदेश अध्यक्ष), त्रिपुरा पूर्व सुरक्षित से परीक्षित देबबर्मा (प्रदेश उपाध्यक्ष)।

पश्चिम बंगाल: रायगंज से निमू भौमिक (फिल्म कलाकार), बहरामपुर से सुशांत रंजन पाल (प्रदेश उपाध्यक्ष), बनगांव सुरक्षित से केडी विश्वास, बैरकपुर से आरके हांडा, बासिरहाट से सामिक भटटाचार्य (प्रदेश महासचिव), हुगली से चंदन मित्रा (वर्तमान राज्यसभा सदस्य), आरामबाग सुरक्षित से मधूसूदन बाग, तमलूक से बादशाह आलम (प्रदेश उपाध्यक्ष), घाताल से मुहम्मद आलम (उपाध्यक्ष अल्पसंख्यक मोर्चा), झारग्राम सुरक्षित से विकास मुडी (प्रदेश एसटी मोर्चा उपाध्यक्ष), मेदनीपुर से प्रभाकर तिवारी (प्रदेश उपाध्यक्ष), बिशनपुर सुरक्षित से जयंत मंडल (जिला अध्यक्ष), बर्धमान पूर्व सुरक्षित से संतोष राय (जिला सचिव), बर्धमान-दुर्गापुर से देबश्री चौधरी (प्रदेश सचिव), आसनसोल से बाबुल सुप्रियो, बोलपुर सुरक्षित से कामिनी मोहन सरकार, बीरभूम से जॉय बनर्जी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कर्नाटक में भाजपा ने फिर लगाया येद्दयुरप्पा पर दांव