DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा के तीन सांसदों के टिकट पर ग्रहण

रांची। ब्यूरो प्रमुख। भाजपा झारखंड में अपने कुछ सांसदों का टिकट काट सकती है। इसकी चर्चा पार्टी में तेज है। प्रदेश के नेताओं की लॉबिंग और पसंद-नापसंद भी इन सांसदों की परेशानी बढ़ा दी है। जिन सांसदों का टिकट कट सकता है, उनमें लोहरदगा के सुदर्शन भगत, गिरिडीह के डॉ रवींद्र पांडेय और राजमहल के देवीधन बेसरा शामिल हैं। कहा जा रहा है दिल्ली कनेक्शन ही इन सांसदों को राहत दे सकता है।

प्रदेश के प्रमुख नेता हैं खिलाफ में पार्टी सूत्रों के अनुसार सबसे अधिक विरोध प्रदेश स्तर पर डॉ रवींद्र पांडेय का है। उनकी जगह विरंची नारायण और राजकिशोर महतो की वकालत की जा रही है। इसी तरह पार्टी के एक बड़े नेता पूर्व आइपीएस डॉ अरुण उरांव की पैरवी कर रहे हैं।

हालांकि बुधवार की बैठक में पूर्व विधायक दिनेश उरांव ने बाहरी उम्मीदवार को टिकट दिए जाने का विरोध किया। उनका कई नेताओं ने समर्थन भी किया। राजमहल में टिकट काटने पर प्रदेश के लगभग सभी नेता सहमत हैं।

कहा जा रहा है कि वहां से झामुमो विधायक हेमलाल मुर्मू को टिकट देने के लिए काफी पहले से लॉबिंग की जा रही थी। उन्हें दिल्ली में जल्द ही भाजपा में शामिल करने पर बात चल रही है।

बाहरी उम्मीदवार कर रहे परेशानः लोहरदगा में अरुण उरांव, कोडरमा में मनोज यादव, चतरा में इंदर सिंह नामधारी और नागमणि, राजमहल में हेमलाल मुर्मू को लेकर पार्टी के अंदर हलचल तेज है। कोडरमा से प्रदेश अध्यक्ष डॉ रवींद्र राय खुद दावेदार हैं। प्रदेश के कुछ नेता उनका ही टिकट काटने पर लगे हैं।

कहा जा रहा है कि यशवंत सिन्हा और निशिकांत दूबे प्रदेश अध्यक्ष की दावेदारी के खिलाफ हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपा के तीन सांसदों के टिकट पर ग्रहण