DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुदेश और चंद्रशेखर को विभागों से मिला अनापत्ति प्रमाणपत्र

रांची। हिन्दुस्तान ब्यूरो। आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो और पूर्व मंत्री चंद्रशेखर दुबे ने कई विभागों से अनापत्ति प्रमाण पत्र मांगा था। शुक्रवार को उन्हें अनापत्ति प्रमाण पत्र मिल गया। चुनाव लड़ने के लिए पूर्व मंत्रियों को संबंधित विभागों से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेना पड़ता है। दुबे लोकसभा चुनाव लड़ने की घोषणा कर चुके हैं जबकि सुदेश ने पत्ते नहीं खोले हैं। हालांकि चर्चा है कि आखिरी समय में सुदेश भी मैदान में आ सकते हैं, इसलिए उन्होंने अनापत्ति प्रमाण पत्र ग्रामीण विकास विभाग से मांगा है।

अनापत्ति प्रमाण पत्र लेना जरूरी लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने से पहले वर्तमान विधानसभा के वैसे सदस्यों को अनापत्ति प्रमाणपत्र लेना पड़ता है, जो मंत्री रह चुके हैं। इस क्रम में पूर्व ग्रामीण विकास, ग्रामीण कार्य एवं जल संसाधन मंत्री सुदेश महतो और पूर्व ग्रामीण विकास, पंचायती राज तथा श्रम एवं नियोजन मंत्री चंद्रशेखर दुबे ने संबद्ध विभागों से अनापत्ति प्रमाणपत्र देने के लिए आवेदन दिया था। आवेदन पर सभी शाखाओं के पदाधिकारियों से यह लिखवाया गया है कि पूर्व मंत्री के पास कोई फाइल लंबित नहीं है।

इसके अलावा सरकारी संपत्ति के लिए लेखा शाखा से अनापत्ति प्रमाणपत्र भी दिलवाया गया है। पूर्व मंत्रियों के सरकारी एवं आवासीय कार्यालयों में फोटो कॉपियर, फैक्स मशीन, टेलीफोन के साथ ही फर्नीचर वापसी का भी प्रमाणपत्र दिया गया है। साथ ही मंत्रियों को कितने वाहन उपलब्ध कराए गए थे, उनकी वापसी का भी लेखा जोखा तैयार कर विभाग ने एनओसी दी है। एनओसी नहीं रहने पर चुनाव जीतने के बाद भी जीत रद्द कर दी जाएगी। सुदेश महतो के संबंध में कहा गया है कि उन्होंने एहतियातन एनओसी ली है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुदेश और चंद्रशेखर को विभागों से मिला अनापत्ति प्रमाणपत्र