DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विकास दर में गिरावट से नीतीश की पोल खुली :

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने शुक्रवार को कहा कि बिहार की विकास दर के जो नए आंकड़े आए हैं, उसने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पोल खोल कर रख दी है। वर्ष 2012-13 में बिहार की विकास दर जहां 15.05 प्रतिशत थी वह 2013-14 में गिरकर 8.82 प्रतिशत पर पहुंच गई है।

पार्टी प्रदेश कार्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में श्री मोदी ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2013-14 की पहली तिमाही में जदयू-भाजपा गठबंधन टूट गया। वर्तमान वित्तीय वर्ष में लगभग ढाई महीने तक ही भाजपा सरकार में शामिल थी। केंद्रीय सांख्यिकी संगठन के अनुसार भाजपा शासित राज्यों में बड़े स्तर पर विकास हुआ है। मार्च 2014 के आंकड़ो के अनुसार मध्य प्रदेश में 2012-13 के दौरान विकास दर 8.9 प्रतिशत थी और 2012-14 में यह बढ़कर 11.08 प्रतिशत पर पहुंच गई।

श्री मोदी ने कहा कि बिहार में विकास की दर वर्तमान वित्तीय वर्ष में काफी नीचे गई है, जबकि अन्य राज्यों की विकास दर में निरंतरता बनी हुई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्वयं वित्त मंत्री का दायित्व संभाल रहे हैं। उनके वित्त मंत्री रहते आर्थिक विकास की दर में सबसे अधिक गिरावट दर्ज हुई है। बिहार और पंजाब का आर्थिक आकार लगभग एक जैसा है पर पंजाब की विकास दर में 2012-13 की तुलना में 2013-14 में बढ़ोतरी दर्ज हुई है।

इसी तरह पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, हरियाणा, झारखंड, हिमाचल प्रदेश व जम्मू-कश्मीर में भी आर्थिक विकास दर में बढ़ोत्तरी दर्ज हुई है पर इस दौरान बिहार में तेजी से गिरावट दर्ज हुई है। असल में भाजपा-जदयू गठबंधन टूटने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस तरह से जोड़-तोड़ की राजनीति में व्यस्त हो गए हैं कि उसका प्रत्यक्ष असर विकास के विभिन्न पहलुओं पर पड़ रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विकास दर में गिरावट से नीतीश की पोल खुली :