DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएमसीएच में नर्सो ने की सात घंटे हड़तालं

कार्यालय संवाददाता पटना। पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) में संविदा पर तैनात नर्स शुक्रवार को सात घंटे तक हड़ताल पर रहीं। इस दौरान उन्होंने धरना भी दिया। इस दौरान कुछ वार्ड में मरीजों को परेशानी उठानी पड़ी, लेकिन अस्पताल प्रशासन ने इनसे निपटने के लिए नर्सिग की छात्राओं को वार्डो में तैनात कर दिया।

नर्सो को जब पता चला कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आदर्श आचार संहिता लागू है और उनके स्थायीकरण की मांग पूरी नहीं की जा सकती है तो उन्होंने धरना समाप्त कर दिया। नर्सो का नेतृत्व कर रहीं बी विश्वास ने कहा कि पीएमसीएच में संविदा पर साढ़े छह सौ नर्से तैनात हैं। सात साल से उनकी सेवा का नवीनीकरण किया जा रहा है, लेकिन सरकार उन्हें स्थायी नहीं कर रही है। नर्सो की बहाली के लिए सरकार ने पहल शुरू की है, लेकिन उसमें परीक्षा लेने की व्यवस्था की गई है।

जो नर्स पिछले सात साल से तैनात हैं, उनकी परीक्षा क्यों ली जा रही है। हालांकि नर्सो की इस हड़ताल में दूसरा गुट शामिल नहीं था। दूसरे गुट का प्रतिनिधित्व कर रही पूनम देवी ने कहा कि सरकार ने उनकी मांगें मान ली हैं तथा इस दिशा में सार्थक पहल शुरू हो गयी है इसीलिए वे इस हड़ताल में शामिल नहीं हुईं। देर शाम नर्सो ने यह कहकर हड़ताल समाप्त कर दी कि आदर्श आचार संहिता समाप्त होने के बाद सरकार पर दबाव डाला जाएगा।

नर्सो की हड़ताल के कारण हथुआ और टाटा वार्ड के कुछ मरीज परेशान हुए। बाद में इन वार्ड में नर्सिग की छात्राओं को भेजा गया, जिन्होंने मरीजों के उपचार में सहयोग किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पीएमसीएच में नर्सो ने की सात घंटे हड़तालं