DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनावी डुगडुगी बजते ही शिलान्यास व उद्घाटन पर लगा ब्रेक

निज प्रतिनिधि। लोकसभा चुनाव की ड़गडुगी बजते ही प्रतिनिधियों की निधि से करोड़ो की योजनाओं पर ब्रेक लग गया है। चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद सांसद और विधायक के शिलान्यास और उद्घाटन समारोह में शिरकत करने पर भी विराम लग गया। आरा की सांसद मीना सिंह और राजद विधायक भाई दिनेश की निधि से मार्च में ही लगभग सौ से अधिक योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन होना था। सैकड़ो गांवों को बिजली से जगमग करने की योजना भी खटाई में पड़ गयी है।

बताया जाता है कि जिले में सांसद, विधायक व विधान पार्षद के मद से कई योजनाओं का शुभारम्भ होना था। विभाग द्वारा इन योजनाओं की प्रशासनिक स्वीकृति भी मिल चुकी है, लेकिन काम शुरू होने के ठीक पहले आचार संहिता लागू हो गयी। विभागीय सूत्रों का कहना है कि सांसद मीना सिंह की निधि से सामुदायिक भवन व पीसीसी के शिलान्यास का काम स्थगति करना पड़ा । इसके अलावा 1 करोड़ 91 लाख की लागत से कई गांवों में बिजली सप्लाई शुरू करने के लिए ट्रांसफार्मर, तार व पोल देने का काम भी रुका है।

मार्च महीने में ही इन योजनाओं का शिलान्यास किया जाना था। इसी तरह जगदीशपुर विधायक भाई दिनेश की निधि से कहेन, रामकोसा, दीघा व कुसुम्हां सहित अन्य गांव में सड़कों व पुल निर्माण सहित कई योजनाओं के शिलान्यास का काम रोकना पड़ा। इस महीने 195 गांवों के विद्युतीकरण का कार्य प्रारम्भ करना था। इसके लिए 2 करोड़ 40 लाख रुपये की अनुशंसा भी कर दी गई, पर आचार संहिता लागू हो जाने के बाद विद्युतीकरण का कार्य रुका पड़ा है।

कितनी योजनाओं का शिलान्यास हुआ स्थगतिः सांसद की योजनाएं 36 सामुदायिक भवन व पीसीसी का निर्माण 35 गांवों में विद्युतीकरण का कार्य जगदीशुपर विधायक की योजनाएं 5 सड़कों का निमार्ण 195 गांवों में विद्युतीकरण का कार्य 1 पुल का निर्माण।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चुनावी डुगडुगी बजते ही शिलान्यास व उद्घाटन पर लगा ब्रेक