DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दहेज हत्याः सास और पति को 10 साल की सजा

भागलपुर, वरीय संवाददाताः दहेज हत्या मामले में शुक्रवार को प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश विनोद कुमार ने पति और सास को 10 साल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने दोनों को 26 फरवरी को दोषी करार दिया था। घटना की प्राथमिकी गोपालपुर थाना के मुरली निवासी कमलेश्वर प्रसाद सिंह ने दर्ज कराई थी। अभियोजन पक्ष से अपर लोक अभियोजक श्रीकिशोर यादव ने बहस में भाग लिया।

कमलेश्वर की बेटी द्रौपदी देवी की शादी पीरपैंती के कालीप्रसाद निवासी अखिलेश मंडल के साथ हुई थी। शादी के बाद ससुराल वाले दहेज के रूप में 50 हजार रुपये मांगने लगे। पैसा नहीं देने पर ससुराल वाले द्रौपदी देवी को मारते-पीटते थे। यह जानकारी द्रौपदी अक्सर मायके में मोबाइल से देती थी। प्राथमिकी में कहा गया है कि तीन नवंबर 2011 को सुबह आठ बजे किसी ने कमलेश्वर को सूचना दी कि उसकी बेटी द्रौपदी देवी को जलाकर मार डाला गया है।

कमलेश्वर जब काली प्रसाद गया तो वहां अपनी बेटी को मृत पाया। आसपास के लोगों को जानकारी मिली कि ससुराल वालों ने केरोसिन छिड़ककर आग लगाकर मार दिया है। दोनों पक्षों को सुनने के बाद कोर्ट ने अभियुक्त अखिलेश मंडल (पति) और धुरपतिया देवी (सास) को भादवि की धारा 304 बी के तहत 10 साल की सजा सुनवाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दहेज हत्याः सास और पति को 10 साल की सजा