DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब स्कूल व कॉलेज ग्राउंड में हो सकेगी राजनीतिक सभाएं

मधेपुरा ’ हिन्दुस्तान प्रतिनिधि। स्कूल और कॉलेजों के मैदान में राजनीतिक दलों को सभा करने की मंजूरी दे दी गयी है। लेकिन इसके लिए अलग-अलग राशि का निर्धारण किया गया है। भारत निर्वाचन आयोग को कई राज्यों के प्रतिनिधियों द्वारा भेजे गये पत्र में यह कहा गया कि राजनीतिक सभाओं के लिए मैदान की कमी है। निर्चाचन आयोग ने सभी राज्यों के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को इस संबंध में पत्र जारी कर राजनीतिक दलों की सभाओं के लिए स्कूल एवं कॉलेज मैदान आवंटित करने की सहमति देने को कहा है।

हालांकि इसके लिए आयोग ने कई शर्ते भी रखी है। आयोग के अनुसार आयोजन से किसी भी परिस्थिति में स्कूल और कॉलेज का एकेडमिक कलैंडर बाधित नहीं होना चाहिए। साथ ही इसके लिए स्कूल एवं कॉलेज प्रांधन और एसडीएम से पूर्व अनुमति लेना अनिवार्य होगा। आयोग के निर्देश के अनुसार पहले आने वाले को पहला मौका दिया जाएगा। लेकिन किसी भी पार्टी को मनमाने तरीके से ग्राउंड के उपयोग की अनुमति नहीं दी जाएगी। राजनीतिक सभाओं के लिए स्कूल एवं कॉलेज ग्राउंड के आवंटन को लेकर किसी तरह का विवाद होने पर आयोग ने इसे गंभीरता से लेने की बात कही है।

उप निर्वाचन पदाधिकारी प्रदीप कुमार झा ने बताया कि ऐसे ग्राउंड आवंटन के लिए जिला स्तर से राशि निर्धारित कर दी गयी है। जिला स्तर पर आयोजन के लिए 2500 रुपये, अनुमंडल स्तर पर 1500 रुपये एवं प्रखंड स्तर पर 1000 रुपये संबंधित पार्टी को जमा करना होगा।

बैंकों पर रहेगी पैनी नजर: लोकसभा चुनाव को लेकर आयोग द्वारा विभिन्न दलों के अध्यक्षों, अभ्यर्थियों एवं एजेंटों पर पैनी नजर रखने के लिए जिले सभी बैंकों को महत्वपूर्ण निर्देश दिये गये हैं।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी गोपाल मीणा ने जिले में संचालित सभी बैंकों के शाखा प्रांधक को पत्र जारी कर कहा है कि विभिन्न दलों के अध्यक्षों, सभी अभ्यर्थियों एवं एजेंटों द्वारा मुख्य शाखा एवं अधीनस्थ शाखाओं से जमा एवं निकासी की जाएगी। बैंक प्रबंधकों को निर्देश दिया गया कि एक लाख रुपये से अधिक नकद जमा एवं निकासी होने पर उसे संदिग्ध मानते हुए इसकी सूचना प्रतिदिन विहित प्रपत्र में लेखा कोषांग को देना सुनशि्चित करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब स्कूल व कॉलेज ग्राउंड में हो सकेगी राजनीतिक सभाएं