DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिलाएं दोयम दर्जे की नहीं:डॉ. सुभाष

लखनऊ। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर पति-परिवार कल्याण समिति ने ‘स्त्री-पुरुष का भेद मिटाएं, परिवार बचाएं’ कार्यक्रम का आयोजन किया। शहीद स्मारक पर आयोजित कार्यक्रम में संगठन की अध्यक्ष डॉ. इन्दु सुभाष ने कहा कि अबला नारी पुरुष अत्याचारी की मानसिकता को रखकर सरकार कानून बनाती है। यह संविधान की भावना के साथ खिलवाड़ है। महिलाओं को दोयम दर्जे का बताकर तरह-तरह के कानून बनाकर इनका अपमान किया जाता है। भारत में नारी कभी भी दोयम दर्जे की नहीं रही है।

इतहिास गवाह है कि नारियों ने युद्ध से लेकर शास्त्रार्थ कर अपनी श्रेष्ठता साबित की है। कार्यक्रम के अंत में शहीद स्मारक से जीपीओ पार्क तक पैदल मार्च निकाला गया। इसमें दर्जनों लोग शामिल थे। नसिं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महिलाएं दोयम दर्जे की नहीं:डॉ. सुभाष