DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गन्ना किसानों का शोषण किया जा रहा

कन्नौज। हिन्दुस्तान संवाद। सपा के पास किसानों के लिए कुछ नहीं हैं। जबकि उन्हें किसानों का नेता कहा जाता है। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री ने यह बात पत्रकारों से कही। संत समागम तिर्वा में हिस्सा लेने के बाद भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री दिनेश दुबे ने पत्रकारों से रूबरू हुए। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी सरकार आलू किसानों के लिए कुछ नहीं कर रही है।

जबकि प्रदेश में सपा की पूर्ण बहुमत में सरकार है। आलू किसान रो रहे हैं। क्योंकि आलू का निर्यात न होने से उसकी स्थिति बदत्तर होती जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 44 जिलों में गन्ना की खेती किसान बहुतायत मात्रा में करते हैं। लेकिन उन्हें उसका समर्थन मूल्य नहीं मिल पा रहा है। सपा सरकार ने गन्ना किसानों को 280 रुपए प्रति कुंतल की दर से भुगतान देने का वादा किया था। पर किसानों को सिर्फ 260 रुपए प्रति कुंतल की दर से भुगतान मिल रहा है।

इससे गन्ना किसानों का काफी नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि पिराई के समय किसान के गन्ने का वजन कम हो जाता है। इससे मिल मालिकों का लाभ होता है। क्योंकि उसका वजन कम होने पर रस गाढ़ा हो जाता है, और शक्कर ज्यादा मात्रा में प्राप्त होती है। इस मौके पर पूर्व एमएलसी रामनरेश सचान,प्रदेश सह संयोजक खेलकूद प्रकोष्ठ के योगेंद्र भदौरिया व डा.वीके शर्मा मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गन्ना किसानों का शोषण किया जा रहा