DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जैसे-तैसे बज ही गई परीक्षाओं की घंटी

आगरा। वरिष्ठ संवाददाता। अंबेडकर विवि की मुख्य परीक्षाएँ आखिरकार शुरू हो गई। दौड़ते-हांफते परीक्षा की घंटी बजा दी गई। कम परीक्षार्थियों को भी समय से प्रवेश पत्र नहीं मिल सके। पेपर शुरू होने से पहले प्रवेश पत्र सौंपे गए। असली चुनौती बीकॉम की परीक्षाएं बनने वाली हैं। छात्र संख्या बढ़ने के साथ अव्यवस्थाओं का सिलसिला शुरू होगा। विवि ने बड़ी चतुराई से मार्च में परीक्षाओं का श्रीगणेश कर दिया है।

शुरू में बीएससी एग्रीकल्चर की परीक्षाएं रखी गई थीं। इनमें बेहद कम परीक्षार्थी हैं। सूत्रों की मानें तो पहले दिन लगभग 2.5 हजार विद्यार्थियों की परीक्षाएं कराई गईं। तीन पालियों में परीक्षाएं कराने के लिए नोडल सेंटरों पर गुरुवार देर रात परीक्षा सामग्री भेजी गई थी। सेंट जोंस कॉलेज आगरा, डीएस कॉलेज अलीगढ़, गंजडुंडवारा कॉलेज गंज डुंडवारा, एके कॉलेज शिकोहाबाद और बीएसए कॉलेज मथुरा को नोडल सेंटर बनाया गया था। कॉलेजों के लॉगिन में प्रवेश पत्र डाल दिए गए थे।

परीक्षाओं का जायजा लेने सुबह कुलपति प्रो. मोहम्मद मुजम्मिल कई केंद्रों पर गए। आरबीएस कॉलेज बिचपुरी में उन्होंने परीक्षाओं की व्यवस्थाएं परखीं। यहां सब ठीक-ठाक मिला। 19 मार्च से बीकॉम के पेपर शुरू हो रहे हैं। यहां विवि की असली परीक्षा शुरू होगी। फिलहाल बीए, एमए, एमकॉम समेत अन्य परीक्षाओं की स्कीम तैयार नहीं हो पाई है। जिला प्रशासन से बातचीत के बाद शेष परीक्षा कार्यक्रम तय किया जाएगा। मुश्किल से डाउनलोड हुए प्रवेश पत्र कॉलेजों को प्रवेश पत्र डाउनलोड करने में भारी परेशानी हुई।

विवि के सर्वर पर अचानक बोझ बढ़ने से गुरुवार को कॉलेज स्टाफ देर रात तक लगे रहे। जैसे-तैसे प्रवेश पत्र डाउनलोड हो पाए। कुछ कॉलेज रात में डाउनलोड नहीं कर पाए। इन्होंने सुबह परीक्षा शुरू होने से पहले कामयाबी पाई। राम भरोसे परीक्षाएं शुरू हो गईं। नौ परीक्षाएं आगे बढ़ाएगा विवि रजिस्ट्रार डॉ. बीके पांडेय तीन चुनावी तिथियों के कारण नौ परीक्षाएं आगे बढ़ाने जा रहे हैं। इसके लिए उन्होंने तीन अप्रैल के बाद नई स्कीम बनाने के निर्देश दे दिए हैं।

स्कीम बनने के बाद जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बातचीत की जाएगी। इसमें चुनावी तिथियों पर विमर्श किया जाना है। स्कीम फाइनल होने के बाद इसे जारी कर दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जैसे-तैसे बज ही गई परीक्षाओं की घंटी