DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केजरीवाल बोले, कम से कम औपचारिकता तो निभाते मोदी

केजरीवाल बोले, कम से कम औपचारिकता तो निभाते मोदी

दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने गुजरात दौरे के दौरान गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मिलने से इंकार करने ओर उनके पत्र का जवाब नहीं देने पर मोदी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कम से कम पूर्व मुख्यमंत्री के नाते ही औपचारिकता तो निभाते।

केजरीवाल ने शुक्रवार को जयपुर में एक कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि मैं गुजरात के दौरे पर था। मैंने मुख्यमंत्री मोदी से मिलने का समय मांगा और साथ ही एक पत्र भी भेजा, लेकिन मोदी ने तो जब मैं उनके मकान से पांच किलोमीटर दूर था तो भारी पुलिस बल भेज दिया और मुझे वहीं पर रोक दिया।

उन्होंने कहा कि मैं यह देखकर हैरान रह गया। मैं पूर्व मुख्यमंत्री हूं, इसी लिहाज से कम से कम मोदी सभ्यता की औपचारिकता तो निभाते। मान लो उनके पास मिलने का समय नहीं था तो बता देते। मेरे पास समय नहीं, लेकिन इतनी पुलिस भेजने की क्या जरूरत थी। मैं क्या आतंकवादी हूं कि मेरे से डरकर पुलिस बल भेजकर अपने मकान से पांच किलोमीटर पहले ही रोक दिया।

केजरीवाल ने कहा कि मेरे से इतना डरने की क्या जरूरत है। उन्होंने कहा नरेंद्र मोदी ने मेरे से मिलने से ही इंकार कर दिया। मोदी ने तो मेरे पत्र का जवाब भी नहीं दिया। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि गुजरात दौरे के दौरान मेरे पर चार बार हमले किये गये। एक पत्थर तो मुझे लगता-लगता बच गया।

गुजरात की तीन दिन की यात्रा पूरी कर आज कुछ घंटे के लिए जयपुर पहुंचे केजरीवाल ने कहा कि एक साल से षड्यंत्र चल रहा है। मीडिया में गुजरात को लेकर विकास के बारे में न जाने क्या-क्या कहा जा रहा है, लेकिन मैं तीन दिनों तक गुजरात में घूमा हूं। लेकिन वहां तो सब कुछ उलट नजर आ रहा है।

उन्होंने कहा कि गुजरात में अडानी समूह का राज चल रहा है, जिस भूमि पर अडानी समूह ने हाथ रख दिया, वो जमीन उसकी हो गई। किसानों की जमीने ली जा रहीं है, लेकिन मुआवजा नहीं दिया जा रहा है, बिना पैसे कोई काम नहीं होता, हर काम के अलग अलग पैसे तय है। उद्योग चलाने के लिए पैसे देने पड़ते हैं।

केजरीवाल ने आरोप लगाया कि गुजरात में भ्रष्टाचार का बोलबाला है। नर्मदा बांध की ऊंचाई तो बढ़ गयी, लेकिन अभी तक चिन्हित स्थानों तक पानी नहीं पहुंचा। उन्होंने कहा कि पूरे गुजरात को बेच दिया है जो कुछ बचा है उसे बेच दिया जायेगा, यह सब कुछ इसलिए चल रहा है क्योंकि गुजरात में विपक्ष है ही नहीं, कांग्रेस पूरी तरह से खत्म हो चुकी है, जो बोलता है उसे डरा दिया जाता है या पैसे देकर खरीद लिया जाता है। अगर दोनों में सफल नहीं हुए तो मरवा दिया जाता है।

उन्होंने आरोप लगाया कि गुजरात में जनतंत्र के नाम पर धोखा हो रहा है। गुजरात की जनता काफी डरी हुई है, अब आशा की किरण है तो केवल आम आदमी में।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केजरीवाल बोले, कम से कम औपचारिकता तो निभाते मोदी