DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान को ध्वस्त कर खिताब पाने उतरेगा श्रीलंका

पाकिस्तान को ध्वस्त कर खिताब पाने उतरेगा श्रीलंका

एशिया कप में अभी तक विजय पथ पर सवार चार बार की चैंपियन श्रीलंकाई टीम जब शनिवार को यहां आखिरी मुकाबले के लिए मैदान पर होगी तो उसका लक्ष्य जबरदस्त फॉर्म में चल रही पाकिस्तानी टीम को हर हाल में ध्वस्त कर खिताब अपने नाम करना होगा।
         
एशिया कप में इस बार श्रीलंकाई टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है और वह अपने चारों मुकाबले जीतकर सर्वाधिक 17 अंकों के साथ शीर्ष पर है। टीम अपने पिछले मैचों में पाकिस्तान, भारत, अफगानिस्तान और मेजबान बंगलादेश सभी को ध्वस्त कर चुकी है। ऐसे में फाइनल में उसके सामने पाकिस्तान को एक बार फिर हराना कठिन नहीं होगा।
        
लेकिन दूसरी ओर पाकिस्तानी टीम जबरदस्त फॉर्म में है और उसका गेंदबाजी क्रम ही नहीं बल्कि मोहम्मद हफीज, शहजाद अहमद, ऑलराउंडर तथा सबसे खतरनाक शाहिद अफरीदी, कप्तान मिस्बाह उल हक जैसे खिलाड़ियों की मौजूदगी से बल्लेबाजी क्रम भी बेहद मजबूत हो गया है। टीम ने पिछले मैचों में बेहद करीबी मुकाबले जीते हैं और उसके ऑलराउंड प्रदर्शन से कहना कठिन नहीं है कि वह मुश्किल में घिरने के बावजूद विपक्षी टीम से जीत छीनने का माद्दा रखती है। 

पाकिस्तान दो बार एशिया कप का खिताब जीत चुका है जबकि भारत और श्रीलंका ने क्रमश: पांच और चार बार यह खिताब जीता है। ऐसे में इस बार पाकिस्तान पूरी कोशिश करेगा कि टीम के फॉर्म में रहते वह एशिया कप का चैंपियन बन जाये। हालांकि पाकिस्तान और श्रीलंका दोनों के लिए ही खिताब की जंग आसान नहीं होगी।
        
श्रीलंका लगातार मैच जीत चुका है और उसके लिए इस लय को जारी रखना जहां मुश्किल नहीं होगा वहीं पाकिस्तान एशिया कप का पहला मैच श्रीलंका से 12 रनों से हार चुका है और वह उसी टीम के सामने फाइनल में खेलने को लेकर कुछ मनोवैज्ञानिक दबाव में जरूर होगा। 
        
श्रीलंका ने अपना आखिरी मैच बंगलादेश से तीन विकेट से जीता था। पाकिस्तान के बेहतरीन गेंदबाजों की ही तरह श्रीलंका के पास सुरंगा लकमल, तिषारा परेरा, सचित्र सेनानायके, अजंता मेंडिस और लसित मलिंगा जैसे बेहतरीन खिलाड़ी हैं। श्रीलंकाई खिलाड़ी और कप्तान एंजेलो मैथ्यूज ने माना कि अंतिम एकादश में मलिंगा की वापसी से पाकिस्तान के खिलाफ खिताबी मुकाबले में टीम को काफी मदद मिलेगी।
         
लेकिन पाकिस्तान के सामने उतरने से पहले उसके बल्लेबाजी क्रम को अपनी पिछली गलतियों को सुधारना जरूरी होगा। खुद श्रीलंकाई कप्तान कह चुके हैं कि बंगलादेश के खिलाफ मैच में शुरुआती विकेट गंवाने से टीम कुछ दबाव में थी और 205 के लक्ष्य का पीछा करने के लिए भी उन्हें संघर्ष करना पड़ा।     
         
दूसरी ओर पाकिस्तान भी अपनी मजबूत कड़ी अपने गेंदबाजों को ही मानता है। ऐसे में उमर गुल, अब्दुर रहमान, सईद अजमल, ऑलराउंडर अफरीदी, फवद आलम और टीम के नवोदित खिलाड़ी मोहम्मद ताल्हा पर शनिवार को सभी की निगाहें होंगी।
         
इस बात में कोई दो राय नहीं है कि कुसाल परेरा, लारितिरिमाने, माहेला जयवर्धने, मैथ्यूज और कुमार संगकारा जैसे बल्लेबाजों के लिए पाकिस्तानी गेंदबाज बड़ी मुश्किलें पैदा कर सकते है। लेकिन खास बात यह है कि श्रीलंकाई टीम भी इस समय ऑलराउंड प्रदर्शन कर रही है और उसके ओपनिंग क्रम जितना ही मध्यक्रम भी मजबूत है। इसलिए कहना गलत नहीं होगा कि खिताब के लिए दोनों टीमों को एढ़ी चोटी का जोर लगाना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाकिस्तान को ध्वस्त कर खिताब पाने उतरेगा श्रीलंका