DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनाव की घोषणा पर प्रशासन अलर्ट, मांगी विवादों की सूची

 रामपुर। निज संवाददाता। लोकसभा चुनाव की घोषणा होने के बाद सरकारी मशीनरी शांतिपूर्वक चुनाव कराने के लिए एक्टवि हो गई है। चुनाव आयोग की सख्ती के बाद शासन ने सभी जिलों के अफरसरों को पत्र भेजकर त्योहारों और चुनाव के मौके पर हुए बलवे और विवादों की सूची मांगी है। होली के त्योहार के मद्देनजर स्थानीय अफसर विवादों की सूची बनाने में जुट गए हैं।

बुधवार को आयोग ने लोकसभा चुनाव का कार्यक्रम जारी कर दिया। चुनावी कार्यक्रम घोषित होते ही आचार संहिता लग गई। कार्यक्रम के तहत 19 अप्रैल को रामपुर में मतदान होगा। साथ ही चुनाव आयोग ने शांतिपूर्वक चुनाव निपटाने के आदेश दिए हैं। लिहाजा शासन स्तर से जिलावार पत्र भेजकर विवादों की सूची मांगी है। शासन ने पूछा है कि किन-किन त्योहारों पर विवाद हुआ है, जिले में कितने विवाद हो चुके हैं। आगे भी विवाद की आशंका है या फिर मामले को निपटा दिया गया है।

लोकसभा और विधानसभा चुनाव के दौरान भी कोई विवाद हुआ है। शासन से मिली गाइड लाइन के अनुसार विभागीय अफसर विवादों की सूची बनाने में जुट गए हैं।

त्योहारों पर हुए हैं अधिकतर विवाद

विभागीय सूत्रों के अनुसार शासन को भेजी जाने वाली सूची में करीब 61 विवादों का जिक्र किया है। सभी विवाद त्योहारों के मौके पर हुए हैं। सूत्रों के अनुसार दुर्गा पूजा के दौरान पांच, बारावफात के दौरान चार, होली के दौरान सात, मोहर्रम के दौरान आठ, बकरीद के दौरान दस विवादों का जिक्र है।

जबकि करीब 18 विवाद अन्य मौकों पर हुए। फिलहाल बड़े चुनाव के दौरान पिछले चुनावों में विवादों की सूचना निल है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चुनाव की घोषणा पर प्रशासन अलर्ट, मांगी विवादों की सूची