DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईएमए ने विजय दिवस मना खत्म की हड़ताल

बहराइच, हिन्दुस्तान संवाद। कानपुर में जूनियर डाक्टरों की पिटाई व गिरफ्तारी के बाद इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की ओर से विभिन्न मांगों के समर्थन में सोमवार से हड़ताल की गई थी। उच्च न्यायालय की ओर से संज्ञान लेने व मुख्यमंत्री से मिले आश्वासन के बाद आईएमए के चिकित्सकों ने हड़ताल वापसी का निर्णय लिया। गुरुवार को आईएमए के पदाधिकारी व सदस्यों ने विजय दिवस मनाते हुए हड़ताल वापसी की घोषणा की।

इसके बाद जिला चिकित्सालय समेत विभिन्न नर्सिग होमों में मरीजों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की गईं। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के जनपद अध्यक्ष डा.अनिल केडिया ने बताया कि सभी चिकित्सक कानपुर के एसएसपी को निलंबित किये जाने व जूनियर डाक्टरों की पिटाई व उनकी गिरफ्तारी के विरोध में हड़ताल पर थे। मामले में उच्च न्यायालय की ओर से स्वत: संज्ञान लेने तथा मुख्यमंत्री से मिले आश्वासन के बाद हड़ताल समाप्त करने का निर्णय लिया गया है। आईएमए राज्य मुख्यालय की ओर से दिशा निर्देश भी प्राप्त हो गये हैं।

आईएमए में शामिल सभी चिकित्सकों ने गुरुवार की सुबह सीएमओ कार्यालय के समक्ष बैठक कर हड़ताल समाप्त कर पुन: मरीजों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने का निर्णय लिया। बैठक में शामिल चिकित्सकों ने इस दिन को विजय दिवस के रूप में मनाते हुए एकदूसरे को बधाई दी। इस अवसर पर आईएमए की सचवि डा. रीना केडिया, डा. रविनंदन त्रिपाठी, डा. प्रज्ञा त्रिपाठी, डा. एआर खान, डा. केके वर्मा समेत अन्य लोग उपस्थित रहे।

निजी चिकित्सकों ने जाहिर किया गुस्सा

 डाक्टर्स एसोसिएशन रुपईडीहा के अध्यक्ष डा. सनत कुमार शर्मा के आवास पर आयोजित बैठक में डा. सियाराम दीक्षित ने कहा की जितना उत्पीड़न व अपमान इस सरकार में डाक्टरों को सहना पड़ा है।

ऐसा किसी सरकार में आज तक नहीं हुआ। बैठक में डा. उमाशंकर वैश्य, डा. मदन अग्रवाल, डा. राजन गुप्ता, एजाज हुसैन जैदी तथा डा. बीके मिश्र आदि लोग उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईएमए ने विजय दिवस मना खत्म की हड़ताल