DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आजसू के कई नेता पीएलएफआइ के निशाने पर

रांची। विशेष संवाददाता। अनगड़ा में गिरफ्तार पीएलएफआइ के पांच नक्सलियों ने पुलिस के सामने जो बयान दिए हैं, अगर उनकी बात सही है तो आजसू के नेताओं को सतर्क रहना होगा। पीएलएफआइ के उग्रवादी तीन मार्च को अनगड़ा पुलिस के हत्थे चढ़े थे। इसमें संजय पातर मुंडा, दिलीप बेदिया, चितमोहन उर्फ बंटी मुंडा, महावीर और प्रकाश मुंडा शामिल हैं। संजय पातर ने पुलिस को बताया है कि उसके संगठन ने आजसू के नेताओं को हिटलिस्ट में रखा है।

इसी सिलसिले में वह आजसू प्रमुख सुदेश महतो के गांव भी पहुंचा था। महतो को जेड श्रेणी की सुरक्षा मिली है। जरूरत पड़ने पर काफिले में अतिरिक्त पुलिसकर्मी तैनात किए जा सकते हैं। संजय पातर ने आजसू के कई नेताओं के नाम लिए हैं जिन्हें निशाने पर रखा गया है।

ग्रामीण एसपी सुरेंद्र कुमार झा का कहना है कि उन्होंने जब नक्सलियों से पूछताछ की थी तब किसी दल का नाम नहीं लिया था।

आजसू का नाम लिया है नक्सलियों ने : एसएसपी प्रभात कुमार का कहना है कि अनगड़ा में गिरफ्तार नक्सलियों ने आजसू पार्टी का नाम लिया है न कि दल के प्रमुख सुदेश महतो का ।

उन्होंने कहा कि गिरफ्तार नक्सलियों को रिमांड पर लेकर नए सिरे से पूछताछ होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आजसू के कई नेता पीएलएफआइ के निशाने पर