DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेल में बंद शिक्षक की इलाज के दौरान मौत

मेदिनीनगर। प्रतिनिधि। सदर अस्पताल में भर्ती विचारधीन कैदी सह शिक्षक रामव्रत राम (55) की मौत हो गई। जेल अधीक्षक उदय कुमार कुशवाहा ने बताया कि बीमार होने के बााद रामव्रत को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रामव्रत की मौत पर पिरजनों ने पलामू सेंट्रल जेल प्रशासन पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए अस्पताल में हंगामा भी किया।

रामव्रत के बेटे प्रवीण ने बताया कि वह सेंट्रल जेल में गुरुवार को अपने पिता से मिलने गया, जहां उसे बताया गया कि रामव्रत राम की मौत हो गई है। उसने जेल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके पिता की तबीयत कई दिनों से खराब थी। उनका इलाज वाराणसी में कराया जा रहा था। इस मामले को उसने अपने वकील के माध्यम से जेल प्रशासन के समक्ष रखा भी था। क्या था मामला रामव्रत राम रेहला थाना क्षेत्र के भलुही उमवि में प्रभारी प्राधानाध्यापक थे।

इन पर लगभग नौ लाख रुपए भवन निर्माण की राशि के गबन का आरोप लगा था। इस मामले को लेकर बीइइओ ने रेहला थाना में मामला दर्ज कराया था। जेवीएम ने जांच की मांग कीसदर अस्पताल में शव को देखने पहुंचे जेवीएम नेताओं ने घटना की उच्चस्तरीय जांच की मांग की। मांग करने वालों में जेवीएम के गोविंद सिंह, मुकेश सिंह, गोपाल राम, धीरू सिंह के अलावा उदय राम आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जेल में बंद शिक्षक की इलाज के दौरान मौत