DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव को लेकर दलों में चढ़ा राजनीतिक पारा

लोकसभा चुनाव को लेकर दलों में चढ़ा राजनीतिक पारा

रांची। हिन्दुस्तान टीम। चुनाव की घोषणा के साथ ही सभी दलों में राजनीतिक पारा चढ़ने लगा है। उम्मीदवार चयन की प्रक्रिया हर राजनीतिक पार्टी में शुरू हो गई है। अगले एक सप्ताह में उम्मीदवारों की स्थिति साफ हो जाएगी। इस बीच उम्मीदवार चयन को लेकर विरोध और समर्थन का सिलसिला भी शुरू हो गया है। उम्मीदवारों की घोषणा होते ही ये इसमें और तेज आएगी।

भाजपा में शुरू हुआ समर्थन और विरोधः गुरुवार को चतरा से आए भाजपा कार्यकर्ताओं ने इंदर सिंह नामधारी को टिकट देने का विरोध किया। उनका कहना था कि किसी को टिकट मिले, नामधारी को उम्मीदवार नहीं बनाया जाना चाहिए।

कोडरमा से आए कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस के मनोज यादव को उम्मीदवार बनाने का विरोध किया। उनका कहना था कि प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र राय ही उम्मीदवार बनाए जाने चाहिए। शुक्रवार को प्रदेश चुनाव समिति की बैठक बुलाई गई है। गुरुवार को भाजपा नेता सौदान सिंह ने उम्मीदवार को लेकर प्रदेश के नेताओं से राय विचार किया।

कांग्रेस हर संसदीय क्षेत्र में करेगी पदयात्राप्रदेश कांग्रेस सभी लोकसभा क्षेत्रों में पदयात्रा करेगी। नौ मार्च से पदयात्रा शुरू हो सकती है। दस दिनों की यह पदयात्रा होगी। कार्यक्रम को अंतिम रूप देने के लिए शुक्रवार को बैठक होगी।

उम्मीदवार चयन के लिए प्रदेश कांग्रेस ने अपनी प्रक्रिया पूरी कर सूची केंद्र को सौंप दी है। केंद्र किसी भी दिन उम्मीदवार की घोषणा कर सकती है। कांग्रेस आठ सीट पर चुनाव लड़ सकती है। चार सीट उसने झामुमो को दिया है।

दो सीट राजद के लिए छोड़ सकती है। झाविमो के उम्मीदवारों के नाम तयझाविमो में गुरुवार को दिन भर बैठकों का दौर चला। प्रदेश पार्टी पदाधिकारियों और बाद में चुनाव समिति की बैठक हुई। चुनाव समिति की बैठक में उम्मीदवारों के नामों को अंतिम रूप दिया गया।

नामों की घोषणा किसी भी क्षण हो सकती है। पार्टी सभी 14 लोकसभा सीटों पर उम्मीदवार देगी। बैठक में बाबूलाल मरांडी सहित पार्टी के सभी प्रमुख नेता मौजूद थे।

आज झामुमो तय कर सकता है नामः झामुमो ने उम्मीदवारों का नाम तय करने के लिए शुक्रवार को कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है। शिबू सोरेन एक बार फिर दुमका से मैदान में होंगे। झामुमो को गठबंधन के तहत चार सीटें मिली है। जमशेदपुर में पार्टी के पास कई उम्मीदवार हैं।

गिरिडीह से विधायक जगरन्नाथ महतो के उम्मीदवार बनाने की उम्मीद है। सबसे अधिक परेशानी राजमहल सीट को लेकर है। शिबू सोरेन चाहते हैं कि हेमलाल मुर्मू उम्मीदवार बनें, वहीं मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की पसंद विजय हांसदा हैं।

आजसू 14 सीटों पर देगी उम्मीदवारआजसू पार्टी इसी सप्ताह उम्मीदवारों की घोषणा करेगी। वह किसी भी दल के साथ गठबंधन नहीं करेगी और सभी 14 सीटों पर उम्मीदवार खड़ा करेगी।

गुरुवार को विधायक चंद्रप्रकाश चौधरी के बड़े पिता का देहांत हो गया। पार्टी के प्रमुख नेता रामगढ़ में थे। शुक्रवार से पार्टी की गतिविधियां बढ़ेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लोकसभा चुनाव को लेकर दलों में चढ़ा राजनीतिक पारा