DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेलवे में नौकरी दिलाने के नामपर तीन करोड़ की ठगी

राउरकेला। रेलवे के तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी पदों पर नौकरी दिलाने के नाम पर तीन करोड़ से ज्यादा की रकम ठगे जाने का मामला प्रकाश में आया है। बंडामुंडा में कार्यरत तीन रेल कर्मचारियों ने ठगी के इस मामले को अंजाम दिया है। मिली जानकारी के अनुसार आरोपियों ने रेलवे में सहायक ड्राइवर एवं गैंगमैन समेत अन्य पदों पर नियुक्ति दिलाने का लालच देकर बंडामुंडा के डीजल कालोनी, बंडामुंडा बी सेक्टर, खोर्धा, कटक, बारीपदा, बालेश्वर एवं पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर के कुल 90 बेरोजगार युवकों से रुपये वसूला।

जब नौकरी देने की बारी आई तो आरोपी आनाकानी करने लगे। अंतत: आरोपियों ने जाली नियुक्ति पत्र बनाया और कुछ युवकों को खड़गपुर में नौकरी ज्वायन करने की सलाह दी। युवक जब नियुक्ति पत्र लेकर खड़गपुर पहुंचे तो उन्हें पता चला कि वे ठगी के शिकार हो गए हैं।

अंतत ठगी के शिकार कुछ युवकों ने पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर थाना में आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया। मेदिनीपुर पुलिस मामले को गंभीरता से लिया और छानबीन करते हुए राउरकेला पहुंची।

लेकिन आरोपियों को पहले से ही इस बात का पता चल गया और वे भूमिगत हो गए। मेदिनीपुर पुलिस ने राउरकेला पुलिस की सहायता से शहर में कई स्थानों पर छापेमारी की, परंतु आरोपी पकड़ में नहीं आए। अंतत: मेदिनीपुर पुलिस को बैरंग लौटना पड़ा।

मेदिनापुर पुलिस के अधिकारियों ने पत्रकारों को बताया कि आरोपियों को किसी भी हाल में गिरफ्तार किया जाएगा। दूसरी ओर ठगी के शिकार हुए राउरकेला के बेरोजगार भी आरोपियों के खिलाफ थाने में मामला दर्ज कराने का मन बना रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रेलवे में नौकरी दिलाने के नामपर तीन करोड़ की ठगी