DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जदयू नए नारों के साथ उतरेगा चुनाव मैदान में

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। इस बार के चुनाव में जदयू कई नए नारों के साथ चुनाव में उतरेगा। विकास और धर्मिनरपेक्षता से जुड़े नए नारे गढ़े जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त बिहार मांग रहा इंसाफ जैसे नारे जो बिहार को विशेष राज्य के दर्जा से संबंधित है पर भी पार्टी के थिंक टैंक के स्तर से काम हो रहा है।

जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह से जब चुनाव के नारों के संबंध में बात की गई तो उन्होंने कहा कि बिहार के साथ केंद्र के भेदभाव से जुड़े नारे विशेष रूप से चुनाव अभियान के केंद्र में रहेंगे। विकास से जुड़े नारे गढ़े जा रहे जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने बताया कि पिछले आठ वर्षो में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के शासनकाल में विकास से जुड़े जो काम हुए हैं उन पर केंद्रित नारे तैयार हो रहे हैं। इसमें सड़कों व आधारभूत संरचना के क्षेत्र में हुए काम के साथ-साथ शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली व स्वच्छता अभियान के क्षेत्र में हुए काम शामिल है।

महिलाओं और युवाओं पर फोकसः जदयू के नारों में बिहार का सामाजिक एंगल भी दिखेगा। अलग-अलग इलाकों में इसके लिए अलग-नारे होंगे। महिलाओं और युवाओं के लिए बिहार में नीतीश कुमार की सरकार ने जो काम किए हैं उस पर भी नए नारे गढ़े जा रहे हैं। केंद्र के भेदभाव से जुड़े नारे भी बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने के मामले में केंद्र के भेदभाव से जुड़े नारे आंकड़े को जोड़कर तैयार किए जा रहे हैं। पार्टी ने इससे संबंधित चुनाव सामग्री भी फैक्ट फाइल के आधार पर तैयार करने की योजना बना रखी है।

धर्मनिरपेक्षता पर भी लगेंगे नारेः चुनाव में धर्मनिरपेक्षता से जुड़े नारों के साथ भी जदयू के प्रत्याशी मैदान में होंगे। वैसे इस बात का एहितयात नारों में जरूर रखा जा रहा है कि वह किसी व्यक्ति पर केंद्रित न हो। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जदयू नए नारों के साथ उतरेगा चुनाव मैदान में