DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैदान और हेलीपैड के लिए आयोग से लेनी होगी अनुमति

मैदान और हेलीपैड के लिए आयोग से लेनी होगी अनुमति

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। पांच मार्च से आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद अब सरकार कोई नया काम नहीं करेगी। इसके साथ ही चुनाव कार्य पूरा होने तक कोई भी राजनीतिक दल किसी भी मैदान में यदि कार्यक्रम करना चाहता है तो इसके लिए निर्वाचन अधिकारी से अनुमति लेनी होगी।

इसके अलावा राजनीतिक दल यदि चुनाव प्रचार के लिए किसी को हेलिकॉप्टर से बुलाते हैं तो हैलिपेड के लिए भी संबंधित क्षेत्र के चुनाव अधिकारी से अनुमति लेनी पड़ेगी। आचार संहिता लगने के बाद- कोई भी पार्टी विकास के किसी भी मुद्दे पर कोई नया प्रोजेक्ट शुरू नहीं कर सकेगी।

उद्घाटन या शिलान्यास भी नहीं होंगे। - सरकार के भी सभी कामकाज एक तरह से रुक जाते हैं। हालांकि, रोजाना चलने वाले काम चलते रहेंगे। - सरकारी खर्च पर कोई विज्ञापन प्रकाशित या प्रसारित नहीं होगा। यदि होगा भी तो मुख्यमंत्री या किसी मंत्री का नाम व फोटो नहीं शामिल होगा। - इस बीच प्रशासनिक अधिकारी सीधे चुनाव आयोग के अधीन काम करेंगे। किसी तरह की गड़बड़ी पर वे कार्रवाई के लिए जिम्मेदार होंगे। जिस अधिकारी के क्षेत्र में आचार संहिता का उल्लंघन होता है, चुनाव आयोग उसे ही नोटिस देकर जवाब तलब करता है।

- बिना इजाजत लाउडस्पीकर नहीं बजेगा। इसके लिए एसडीओ से अनुमति लेनी होगी। - धन और शराब ले आने-ले जाने वालों पर नजर रखने के लिए अलग से टीम बनेगी। - वाहनों पर लाल बत्ती व हूटर नहीं लगेंगे। - सरकारी और निजी भवनों से बैनर-पोस्टर और होर्डिग्स हटेंगे। - बिना इजाजत निजी भवनों पर भी बैनर, पोस्टर या झंडा नहीं लगाया जा सकेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैदान और हेलीपैड के लिए आयोग से लेनी होगी अनुमति