DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड़ताल वापस लेकिन बंद रहा ओपीडी

गया निज संवाददाता। कानपुर में जूनियर डॉक्टरों के साथ मारपीट की घटना के विरोध में भारतीय चिकित्सा संघ के द्वारा गुरुवार को एक दिन की हड़ताल के कारण सभी अस्पतालों में डॉक्टरों के द्वारा ओपीडी नहीं किया गया। आईएमए की यह हड़ताल वापस लेने का ऐलान कर दिया गया था परन्तु इसकी सूचना देर से आने के कारण अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल, जयप्रकाश नारायण अस्पताल एवं प्रभावती अस्पताल में ओपीडी नहीं चला। हालांकि सभी अस्पतालों में इमरजेंसी सेवा बहाल रही।

आईएमए के अध्यक्ष डा. शविवचन सिंह ने बताया कि हड़ताल वापस लेने की सूचना देर से आई जिसके कारण सभी अस्पतालों में ओपीडी चालू रखने की ससमय सूचना नहीं पहुंच सकी। अस्पतालों में ओपीडी नहीं होने के कारण दूर देहात से आये सैंकड़ों मरीजों को अस्पताल से निराश लौटना पड़ा। इन अस्पतालों में प्रतिदिन लगभग 5 सौ से 7 सौ रोगियों का इलाज ओपीडी में किया जाता है। हालांकि सभी अस्पतालों के पदाधिकारियों ने अस्पताल के इमरजेंसी सेवा को बहाल रखने के लिए अपना पुरा प्रयास किया।

इससे पूर्व मंगलवार को भी मगध मेडिकल कॉलेज सहित अन्य अस्पतालों के जूनियर डॉक्टरों ने एक दिन का सांकेतिक हड़ताल किया था और इस घटना के विरोध में कैंडल मार्च निकाला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हड़ताल वापस लेकिन बंद रहा ओपीडी