DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैट्रिक परीक्षा के पहले दिन रही पूरी चौकसी

मुजफ्फरपुर। कार्यालय संवाददाता। मैट्रिक परीक्षा के पहले दिन गुरुवार को अंग्रेजी की परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गई। परीक्षार्थियों की बढ़ी संख्या के कारण पहली बार दो पालियों में आयोजित परीक्षा के दौरान सभी केन्द्रों पर पूरी चौकसी रही। दोनों पालियों में कोई भी परीक्षार्थी निष्कासित नहीं हुआ। सभी परीक्षा केन्द्रों पर कदचारमुक्त परीक्षा के लिए वीडियोग्राफी भी हुई।

जिले में बनाए गए 44 परीक्षा केन्द्रों पर पुलिस बल के साथ ही आला अधिकारी भी घूमते रहे। डीएम ने खुद कई परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण किया। डीईओ व अन्य अधिकारियों की चौकसी की वजह से नकल करने वालों की एक नहीं चली।

हालांकि कई केन्द्रों पर सीटिंग प्लान में अव्यवस्था दिखी। इस अव्यवस्था की वजह से दूसरी पाली में कई केन्द्रों पर करीब आधे घंटे तक अफरा-तफरी की स्थिति रही। कदाचारमुक्त परीक्षा के संचालन के लिए डीएम अनुपम कुमार ने खुद बागडोर संभाली।

डीएम व डीईओ मुस्तफा हुसैन मंसूरी ने चैपमैन स्कूल, प्रभात तारा, आरबीबीएम समेत कई केन्द्रों का निरीक्षण किया। सभी केन्द्रों पर परीक्षार्थियों की पूरी पहचान के बाद ही उन्हें अंदर जाने की इजाजत दी जा रही थी। राधाकृष्ण केडिया, एमएसकेबी, आरबीबीएम समेत कई केन्द्रों पर सीटिंग प्लान में गड़बड़ी को लेकर डीईओ भड़क उठे। इन परीक्षा केन्द्रों पर छोटे बेंच-डेस्क पर दो-तीन परीक्षार्थियों को बैठाया गया था । वहीं एमएसकेबी में कुर्सी पर बैठकर कई छात्र परीक्षा दे रहे थे। इस पर नाराजगी जताते हुए डीईओ ने केन्द्राधीक्षकों को तलब किया।

डीईओ ने कहा कि छोटे बेंच पर एक ही परीक्षार्थी को बैठाना है। 5 फीट वाले बेंच पर 2 और 6 फीट वाले पर तीन परीक्षार्थी बैठेंगे। सीटिंग प्लान में गड़बड़ी की वजह से पहली पाली में डॉल्फिन पब्लिक स्कूल जबकि दूसरी पाली में उर्दू मध्य विद्यालय में लगभग आधे घंटे तक अफरा-तफरी की स्थिति बनी रही।

उर्दू मवि में दोपहर ढाई बजे के बाद प्रश्न पत्र बांटा गया। इस संबंध में केन्द्राधीक्षक एमएच तारिक ने बताया कि बच्चियों को बैठने में परेशानी हो रही थी। उन्हें सही ढंग से बैठाने की वजह से प्रश्नपत्र बांटने में 20 मिनट देर हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैट्रिक परीक्षा के पहले दिन रही पूरी चौकसी