DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरियाणा विधानसभा को नहीं मिला विनोद शर्मा का त्यागपत्र

हरियाणा विधानसभा को नहीं मिला विनोद शर्मा का त्यागपत्र

हरियाणा विधानसभा को अभी तक कांग्रेसी नेता विनोद शर्मा का इस्तीफा नहीं मिला है। शर्मा ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। विधानसभा के अतिरिक्त सचिव कुलदीप सिंह ने बताया कि हरियाणा के अंबाला सिटी विधानसभा क्षेत्र से विधायक विनोद शर्मा का इस्तीफा अभी तक नहीं प्राप्त हुआ है।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं हरियाणा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शर्मा ने बुधवार को यह कहते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया था कि वह कुछ मुद्दों पर पार्टी से नाराज हैं। वह कुलदीप बिश्नोई की हरियाणा जनहित कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। शर्मा हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा के नजदीकी माने जाते थे।

शर्मा ने कल देर रात फोन पर बताया कि कुछ मुद्दे थे। उन्होंने कहा कि उन्हें महसूस हुआ कि पार्टी के क्रियाकलाप लोकतांत्रिक नहीं हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपना इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दिया है। अभी, मैंने अपने भावी कार्यक्रम के बारे में कोई फैसला नहीं किया है।

शर्मा ने हरियाणा विधानसभा के 12 दिन के बजट सत्र में शिरकत नहीं की थी जो उनके राह बदलने का एक संकेत था। इस बीच, वरिष्ठ भाजपा नेता सुषमा स्वराज ने ट्वीट में कहा कि मैं इसके सख्त खिलाफ हूं। मैंने अपने विचार से कुलदीप बिश्नोई को अवगत करा दिया है।

एक अन्य ट्वीट में सुषमा ने कहा कि मैंने राजनाथ सिंह जी को लिखित में कहा है कि भाजपा इसकी इजाजत नहीं दे। हरियाणा जनहित कांग्रेस ने कल दावा किया था कि शर्मा उनकी पार्टी में शामिल होने वाले हैं और जल्द ही शर्मा के साथ दिल्ली में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन आयोजित किया जाएगा।

हरियाणा जनहित कांग्रेस पहले से भाजपा के गठबंधन में शामिल है। वह दो सीट हिसार और करनाल से चुनाव लड़ेगी। बिश्नोई हिसार का प्रतिनिधित्व करते हैं। भाजपा बाकी आठ सीटों पर अंबाला, कुरुक्षेत्र, सिरसा, सोनीपत, रोहतक, भिवानी-महेन्द्रगढ़, गुड़गांव और फरीदाबाद से चुनाव लड़ेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हरियाणा विधानसभा को नहीं मिला विनोद शर्मा का त्यागपत्र