DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपी और आईजीडीटीयू में एक फॉर्म से दाखिला

आईपी विश्वविद्यालय और इंदिरा गांधी दिल्ली टेक्निकल यूनिवर्सिटी फॉर वुमेन (आईजीडीटीयू) में दाखिला सिर्फ एक आवेदन फॉर्म से लिया जा सकेगा। आईजीडीटीयू में 15 मार्च से आवेदन की प्रक्रिया शुरू होगी जबकि आईपी में हो चुकी है। एक फॉर्म से दो जगह दाखिले के लिए आवेदन सिर्फ एमसीए कोर्स के लिए किया जा सकता है। अन्य कोर्स इस व्यवस्था के दायरे में नहीं हैं।

एमसीए के लिए आवेदन 10 अप्रैल तक किया जा सकता है। आवेदन फॉर्म आईपी विश्वविद्यालय से लेना होगा। आईजीडीटीयू की कुलपति प्रो. नूपुर प्रकाश ने बताया कि प्रवेश परीक्षा के बाद दोनों ही विश्वविद्यालय में दाखिले के लिए एक काउंसलिंग होगी। उसके आधार पर विश्वविद्यालयों का चुनाव होगा। बहरहाल, आईजीडीटीयू में स्नातक स्तर पर बीटेक, स्नातकोत्तर स्तर पर एमटेक व एमसीए व पीएचडी कोर्स हैं। इस साल पीएचडी कोर्स की शुरुआत की गई है।

एमटेक व पीएचडी के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। छात्रों को http://igit.ac.in पर जाना होगा। इसके अलावा पंजाब एंड सिंध बैंक से 750 रुपये में आवेदन फॉर्म व प्रॉस्पेक्ट्स लिया जा सकता है। बीटेक में दाखिले की प्रक्रिया जून के पहले सप्ताह से शुरू होगी।

बीटेक में जेईई से दाखिला: बीटेक के तमाम कोर्स में सीबीएसई द्वारा आयोजित जेईई की परीक्षा के आधार पर होता है। वहीं एमटेक और पीएचडी के लिए विश्वविद्यालय खुद से प्रवेश परीक्षा आयोजित करेगा। खास बात यह है कि आईजीडीटीयू छात्राओं का विश्वविद्यालय है लेकिन पीएचडी कोर्स के लिए छात्र भी आवेदन कर सकते हैं। पीएचडी के लिए रैट यानी रिसर्च एप्टीट्यूट टेस्ट लिया जाएगा।

जल्द ही एमबीए की शुरुआत: विश्वविद्यालय जल्द ही एमबीए के तीन नए कोर्स शुरू करेगा। ये आपदा प्रबंधन, अस्पताल प्रशासन व बैंकिंग और बीमा क्षेत्र के कोर्स होंगे। इसके अलावा बैचलर ऑफ आर्किटेक्ट भी शुरू करने की योजना है। सूत्रों के मुताबिक, एमबीए में दाखिला मेरिट से दिया जाएगा। इसके लिए स्नातक के अंक और गेट (ग्रेजुएट एप्टीट्यूट टेस्ट इन इंजीनियरिंग) के अंकों को आधार बनाया जाएगा।

2018 तक 2400 सीटें करने का लक्ष्य: आईजीटीयू के तमाम कोर्स में अभी (प्रथम वर्ष) 400 से अधिक सीटें हैं। सभी वर्ष की सीटें मिला दें तो संख्या 1200 के करीब पहुंच जाती है। नए कोर्स शुरू होने से बड़े पैमाने पर सीटें बढ़ेंगी। विश्वविद्यालय का लक्ष्य 2018 तक सीटों की संख्या 2,400 करना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईपी और आईजीडीटीयू में एक फॉर्म से दाखिला