DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

22 जिलों में 4 करोड़ लोग पिएंगे फाइलेरिया की दवा

22 जिलों में 4 करोड़ लोग पिएंगे फाइलेरिया की दवा

फाइलेरिया यानी हाथीपांव बीमारी के उन्मूलन के लिए फाइलेरिया दिवस पर स्वास्थ्य विभाग सार्वजनिक दवा सेवन यानी एमडीए अभियान चला रहा है। इस अभियान के तीसरे चरण के तहत पूर्वी उत्तर प्रदेश के 22 जिलों में 6, 7 और 8 मार्च को फाइलेरिया की दवा खिलाई जाएगी।

इन जिलों में गोरखपुर, आजमगढ़, बस्ती, मिजार्पुर, वाराणसी मंडल के सभी जिलों के साथ ही लखनऊ, बाराबंकी, फैजाबाद और इलाहाबाद जिले भी शामिल हैं। इस कार्यक्रम के तहत इन 22 जिलों में कम से कम चार करोड़ लोगों को फाइलेरिया की दवा मुफ्त खिलाने की तैयारी है।

स्वास्थ्य विभाग के इस कार्यक्रम को सफल बनाने और फाइलेरिया की दवा खिलाने के कार्यक्रम में आशा, एएनएम कार्यकर्ता और सभी चिकित्सा अफसरों के साथ ही आंगबाड़ी के कार्यकर्ताओं का भी सहयोग लिया जाएगा।

इस कार्यक्रम के तहत 2 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को फाइलेरिया की दवा अल्बेंडाजोले-400 एमजी और डेक-100 एमजी की गोलियां मुफ्त खिलाई जायेंगी। अल्बेंडाजोले-400 एमजी दवा हर आयुवर्ग के लोगों को एक खुराक खानी होगी जबकि डेक-100 उह दवा 14 साल के अधिक आयु के हर व्यक्ति को तीन गोलियां लेनी होगी।

वहीं 5 से 14 साल की उम्र के व्यक्ति को कम्ब-100 उह दवा की 2 गोलियां खिलाई जानी हैं। 2 वर्ष से पांच वर्ष तक की आयु के बच्चों को डेक-100 उह दवा की सिर्फ एक गोली की खुराक खिलाई जानी है। ये दवा खाना खाने के बाद खायी जाती हैं। इसके अलावा गर्भवती महिलाओं और दो साल से छोटे बच्चे या फिर अधिक बुजुर्ग और बीमार लोगों को ये दवा नहीं दी जाएगी। इस दवा का सेवन सिर्फ उसी व्यक्ति को करना चाहिए जिसने कम से कम छह महीने पहले तक ये दवा न खाई हो।

इस दवा की खुराक साल में एक बार लगातार पांच से छह साल तक खाकर फाइलेरिया रोग से बचा जा सकता है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा फाइलेरिया उन्मूलन की दवा का वितरण पहले दो चरणों में किया जा चुका है। इस कार्यक्रम का पहला चरण 9, 10 और 11 जनवरी को चलाया गया था, जबकि दूसरा चरण 6,7 और 8 फरवरी को चलाया गया था। इन दोनों ही चरणों में लगभग छह करोड़ लोगों को दवा खिलाई जा चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:22 जिलों में 4 करोड़ लोग पिएंगे फाइलेरिया की दवा