DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आशुतोष-शाजिया के खिलाफ अब एफआईआर...14 गिरफ्तार

आशुतोष-शाजिया के खिलाफ अब एफआईआर...14 गिरफ्तार

राजधानी में भाजपा मुख्यालय के बाहर हुए संघर्ष के सिलसिले में पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज किए जाने के बाद आम आदमी पार्टी (आप) के 14 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है। दोनों दलों के समर्थकों के बीच हुई इस भिड़ंत में 28 लोग घायल हो गए थे।
   
पुलिस सूत्रों के अनुसार बीती रात नेताओं-आशुतोष और शाजिया इल्मी सहित आप के प्रदर्शनकारियों के खिलाफ संसद मार्ग थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई। सूत्रों ने बताया कि इन लोगों के खिलाफ दंगा करने, सरकारी कर्मियों की ड्यूटी में बाधा डालने और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोप लगाए गए हैं।
   
पुलिस ने पहले 33 लोगों को हिरासत में लिया था। इनमें से 14 को देर रात गिरफ्तार कर लिया गया और शेष अन्य को छोड़ दिया गया। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, पहचाने जाने वाले और प्रदर्शन स्थल पर मौजूद उन सभी लोगों के प्राथमिकी में नाम दिए गए हैं।
   
गिरफ्तार किए गए लोगों को दोपहर बाद एक स्थानीय अदालत में पेश किया जाएगा।

पुलिस ने बताया कि संघर्ष में आप के 13 कार्यकर्ताओं और भाजपा के 10 समर्थकों सहित 28 लोग घायल हुए हैं। दिल्ली पुलिस ने आप के प्रदर्शन को पूरी तरह अवैध करार दिया है क्योंकि इस संबंध में पार्टी ने कोई पूर्व अनुमति नहीं ली थी।
   
पुलिस को समूचे घटनाक्रम का वीडियो भी मिल गया है और वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि वीडियो फुटेज में पहचान के बाद और भी लोगों की गिरफ्तारी संभव है। आप कार्यकर्ता कल दिल्ली में भाजपा मुख्यालय के बाहर और लखनउ में भाजपा कार्यकर्ताओं से भिड़ गए थे। ये घटनाएं गुजरात में अरविन्द केजरीवाल की संक्षिप्त हिरासत और उनकी कार पर हुए कथित हमले के बाद हुईं।
   
कल गुजरात की अपनी चार दिन की विकास समीक्षा यात्रा शुरू करने वाले केजरीवाल को आदर्श आचार संहिता के कथित उल्लंघन को लेकर हिरासत में ले लिया गया था। कुछ देर बाद ही उन्हें छोड़ दिया गया था।
   
नरेंद्र मोदी पर केजरीवाल से डर जाने और पुलिस कार्रवाई करने का आरोप लगाते हुए आप कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में अशोक रोड स्थित भाजपा मुख्यलय पर धावा बोल दिया था। वे उत्तरी गुजरात के राधनपुर में केजरीवाल को हिरासत में लिए जाने की घटना का विरोध कर रहे थे।
   
इस दौरान दोनों पक्षों के लोगों ने एक-दूसरे पर पथराव किया। भाजपा कार्यालय के अंदर से प्रदर्शनकारियों पर प्लास्टिक की कुर्सियां फेंकी गईं। पुलिस ने कार्यकर्ताओं को तितर बितर करने के लिए पानी की बौछारें छोड़ीं।
   
लखनऊ में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता भाजपा कार्यकर्ताओं से भिड़ गए और केजरीवाल को हिरासत में लिए जाने के विरोध में विधानसभा मार्ग स्थित भाजपा कार्यालय के बाहर सड़क पर जमकर बवाल हुआ। करीब तीन दर्जन आप कार्यकर्ताओं ने भाजपा मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन किया और कार्यालय पर कथित तौर पर ईंटों से हमला किया, जिसके जवाब में भाजपा कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए।
   
केजरीवाल ने कल भाजपा पर खुद के मुख्यालय के बाहर हिंसा करने का आरोप लगाया था और साथ में उनकी हिरासत के विरोध में कुछ आप कार्यकर्ताओं की जवाबी कार्रवाई पर माफी भी मांगी। उन्होंने दावा किया था कि आप कार्यकर्ताओं पर भाजपा समर्थकों ने पहले हमला किया। कुछ आंदोलित आप कार्यकर्ताओं ने दो या तीन पत्थर फेंककर इसका जवाब दिया।
   
केजरीवाल ने कहा कि मुझे आप कार्यकर्ताओं द्वारा की गई गलतियों के लिए खेद है। उन्हें मेरी हिरासत पर हिंसा में शामिल नहीं होना चाहिए था। उन्होंने गुजरात में अपने काफिले पर भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा हमला करने का भी आरोप लगाया और कहा कि उनकी कार के शीशे टूट गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आशुतोष-शाजिया के खिलाफ अब एफआईआर...14 गिरफ्तार