DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जैन्तगढ़ लैम्पस छह माह से बंद, किसान परेशान

जैन्तगढ़। छह महीने से जैंतगढ़ का लैम्पस भवन बंद रहने से किसान परेशान हैं। जहां एक ओर किसानों को सदस्यता अभियान चलाकर सीधे लैम्पस से जोड़ा जा रहा है, वहीं जैंतगढ़ के किसान छले जा रहे हैं। वित्तीय वर्ष 2013-14 में न किसानों के बीच लैम्पस द्वारा खाद बीज का वितरण हुआ और न ही धान की खरीदारी हुई।

किसानों को खाद एवं बीज महंगा खरीदना पड़ता है। धान की खरीदारी लैम्पस द्बारा नहीं करने के कारण किसानों धान कम कीमत में बाजार में या बिचौलियों का सहारा लेकर बेचना पड़ रहा है।

इससे नुकसान हो रहा है। किसान मकरध्वज प्रधान ने कहा कि हमारे खेतों में सिंचाई का साधन नहीं है। बहुत मेहनत करके फसल उगाते हैं, लेकिन उसकी कीमत नहीं मिल पाती। लैम्पस के अध्यक्ष चन्द्रमोहन लागुरी से सम्पर्क करने पर उन्होंने कहा कि लैम्पस बंद नहीं है।

क्षेत्र में सदस्यता अभियान चलाकर काम किया जा रहा है। राशि मिलते ही धान की खरीदारी शुरू की जाएगी। जगन्नाथपुर के बीडीओ प्रदीप कुमार शुक्ला ने कहा कि उनका ट्रांसफर हो गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जैन्तगढ़ लैम्पस छह माह से बंद, किसान परेशान