DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घोषणा पत्र में डाले किसान से संबंधित मुद्दा : पांडा

प्रेस वार्ता रांची। वरीय संवाददाता। अखिल भारतीय किसान सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह सांसद प्रबोध पांडा ने कहा कि राजनीतिक दलों को अपने घोषणा पत्र में किसानों के हित का मुद्दा शामिल करना चाहिए। सत्ता में आने पर उसे लागू कराना चाहिए। सांसद के रूप में इसे लागू करने के लिए दबाव डालना चाहिए। उन्होंने कहा कि हर किसान को पेंशन मिलना चाहिए। देश की जीडीपी का 10 प्रतिशत राशि कृषि में देना चाहिए। कृषि का अलग मंत्रालय होना चाहिए। स्वामीनाथन कमीशन की अनुशंसा को लागू किया जाना चाहिए।

सभी फसलों के लिए बीमा होगा। फसलों का समर्थन मूल्य लाभकारी होना चाहिए। इन मुद्दों पर संघर्ष करने वाले को एकजुट किया जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद केंद्र में बीजेपी और कांग्रेस की सरकार नहीं बनने वाली है। सरकार बनाने में वामदलों की अहम भूमिका होगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वोटर एमपी चुनता है। उसके बाद पीएम चुना जाता है। इस अवसर पर भुनेश्वर मेहता, केडी सिंह, पंचानंद महतो समेत अन्य मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:घोषणा पत्र में डाले किसान से संबंधित मुद्दा : पांडा