DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आडवाणी को रोका था, अब मोदी को रोकेंगे: लालू

फतेहपुर/गुरारू हिन्दुस्तान टीम। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने गया लोकसभा क्षेत्र के फतेहपुर और औरंगाबाद लोकसभा क्षेत्र के गुरारू में बुधवार को जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि लालकृ ष्ण आडवाणी के रथ को रोका था, अब नरेन्द्र मोदी को रोकेंगे।

उन्होंने कहा कि देश में सांप्रदायिक शक्तियों को बढ़ावा देने से देश टूट जाएगा और ऐसे तत्वों को चुनाव में ऐसी पटकनी देंगे कि दिल्ली की गद्दी को भूल जाएंगे। पूर्व मुख्यमंत्री ने दोनों सभा स्थलों पर नारा दिया ‘मोदी भगाओ देश बचाओ, नीतीश हटाओ बिहार बचाओ’।

उन्होंने कहा कि भारत हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, सब आपस में भाई-भाई के लिए जाना जाता है। इसकी मूल पहचान धर्मनिरपेक्षता है और हम इसे खंडित नहीं होने देंगे। श्री प्रसाद ने कहा कि भाजपा और जदयू एक सिक्के दो पहलू हैं।

एक देश को बांटने पर तुला है, तो दूसरा बिहार को बर्बाद करने में। इस सरकार में गरीब-गुरबों की कोई सुननेवाला नहीं है, हक के लिए आवाज उठाने वालों पर लाठियां बरसाई जाती हैं। उन्होंने मंच से घोषणा की कि कांग्रेस से गठबंधन फाइनल है और अगले दो दिनों में प्रत्याशियों की घोषणा कर दी जाएगी।

फतेहपुर की सभा में श्री प्रसाद ने कहा कि उन्होंने गरीबों और दबे-कुचले लोगों को मानसिक गुलामी से आजाद किया है। पंद्रह वर्षो तक लोगों को जगाकर सांप्रदायिक ताकतों को ललकारा है।

अगर आप लोग नहीं संभले तो देश टूट जाएगा। श्री प्रसाद ने कहा कि चुनाव का बिगुल बज चुका है। 2014 का दंगल हस्तिनापुर का है। उन्होंने भाजपा के पीएम प्रत्याशी व गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए कहा कि नजर अंदाज करने पर साम्प्रदायिक शक्तियां सक्रिय हो जाएंगी।

उन्होंने कहा कि चुनावी दंगल में भारत टूटेगा या भारत रहेगा यह आपको तय करना है। भ्रम में पड़ने की आवश्यकता नहीं है। सोच समझकर वोट देना है।

उन्होंने उम्मीद जतायी कि सभी जाति-बिरादरी के लोग एकजुट होकर साम्प्रदायिक शक्तियों के खिलाफ संघर्ष में उनका साथ देंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि उन्होंने उन्हें बेवजह जेल भेजवाया। बकौल लालू, जेल हमारा गुरुद्वारा है। नीतीश सरकार में अफरशाही बेलगाम हुई है।

चारों ओर भ्रष्टाचार का साम्राज्य कायम हो गया है। घूसखोरी बढ़ी है और अपराध सिर चढ़कर बोल रहा है। ऐसे में सतर्क होने की आवश्यकता है। राजद सुप्रीमो ने आरोप लगाया कि कि नीतीश के राज में आशा, टोला सेवकों, नियोजित शिक्षकों और दलपति आदि द्वारा अपना हक मांगने पर उन्हें जमकर पिटवाया जा रहा है।

लालू ने कहा, हमने लोगों को पिटवाया नहीं बल्कि छोड़ दिया था कि थक जाने के बाद लोग खुद ही चले जाएंगे। सभा को पूर्व सांसद रामजी मांझी, पूर्व मंत्री सुरेश पासवान, पूर्व विधायक समता देवी व विजय मांझी, अरुण कुमार दादपुरी, आकाश उर्फ भंटा पासवान, जितेंद्र कुमार राम, केदार शर्मा, नागेंद्र यादव, मुंद्रिका पासवान, इंद्रदेव यादव, साजिद अली, मो़ इलियास अंसारी, कपिलदेव यादव, राजेष चौधरी, रामस्वरुप यादव, जब्बार खां, शरीफ खां, वसीर खां, मो़ अफजल, कोमल यादव, राहुल कुमार, बृजनंदन यादव, डॉ़ अमीन, इंद्रदेव मांझी और राजकुमार मांझी आदि ने भी संबोधित किया।

सभा की अध्यक्षता प्रखंड अध्यक्ष बिन्देश्वर मंडल ने की जबकि संचलान प्रभारी प्रमुख अरुण दादपुरी ने किया। टिकारी से एक संवाददाता के अनुसार गुरारू में लालू ने कहा कि उनकी लड़ाई कथित दंगाई पार्टी भाजपा से है। नीतीश कुमार कोई फैक्टर नहीं है।

लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान पर चुटकी लेते हुए लालू ने कहा कि सांप्रदायिक ताकतों के साथ हाथ मिलाकर पासवान ने अपने सम्मान के साथ समझौता कर लिया है। सभा की अध्यक्षता राजद के उज्जैर अहमद खां और संचालन गया जिला अध्यक्ष प्रो़ राधेश्याम प्रसाद ने की।

सभा को पूर्व विधायक शविवचन यादव, राजद नेता बिन्देश्वरी प्रसाद यादव, मो. नेहालुद्दीन, अखिल भारतीय ब्राह्मण जागृति मंच के प्रदेश अध्यक्ष मनोरंजन पाठक, संजू यादव, डा़ विनोद कुमार यादवेन्दु, अरूण यादव ने संबोधित किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आडवाणी को रोका था, अब मोदी को रोकेंगे: लालू