DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रत्याशियों के खर्च पर रहेगी विशेष नजर

आरा। संवाद सूत्र। लोकतंत्र के महापर्व का बिगुल बज गया है। निष्पक्ष मतदान को लेकर हर तरह से प्रशासनिक तैयारी की जा रही है। इस महापर्व में आम मतदाता भी अपनी भूमिका अदा करें। चुनाव की तिथि घोषित हो जाने के बाद उक्त बातें जिलाधिकारी पंकज कुमार पाल ने अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कही।

डीएम ने कहा कि प्रत्याशियों के खर्च पर चुनाव आयोग की विशेष नजर रहेगी। संवेदनशील, अतसिंवेदनशील,क्रिटिकल और भेद्यता क्षेत्र की पहचान के लिए 143 मजिस्ट्रेट तैनात किये गये हैं। निष्पक्ष, स्वतंत्र व शांतिपूर्ण मतदान के लिए जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।

मतदान केन्द्रों पर रैम्प, पेयजल, बिजली, शौचालय सहित अन्य सुविधाएं मुहैया कराने की तैयारी चल रही है। 98 फीसदी मतदाताओं को फोटो पहचान पत्र उपलब्ध करा दिया गया है। इस बार मतदान में 17 लाख 34 हजार 364 लोग हिस्सा लेगें जिसमें 9 लाख 74 हजार 684 पुरूष और 7 लाख 99 हजार 364 महिला मतदाता होंगी।

मतदान केन्द्र तक पहुंचने और अन्य चुनाव कार्य के लिए लगभग 1300 वाहनो की जरूरत पड़ेगी जिसके लिए जिला स्तर से कार्रवाई की जा रही है। बीस कोषांगों का गठन किया गया है और 21 नोडल पदाधिकारी व 104 प्रभारी पदाधिकारी तैनात किये गये हैं।

चुनाव की ट्रेनिंग का काम भी तेजी से चल रहा है। राजतीतिक दलों से आदर्श आचार संहिता के अनुपालन की करते हुए डीएम ने कहा कि मतदाताओं को प्रभावित करने वाला अब कोई नया काम और घोषणा नहीं होगी।

सरकारी कर्मियों की नियुक्ति व प्रमोशन पर रोक रहेगी। तबादले केवल चुनाव आयोग के निर्देश पर होंगे। डीएम ने समाज के सभी वर्गो से शांतिपूर्ण चुनाव में सहयोग की अपील की है।

मतदान केन्द्रों पर रहेंगी सुविधाएं रैम्प, पेयजल, बिजली, शौचालय क्या है व्यवस्था 1300 वाहनों की जरूरत 20 कोषांगों का गठन 21 नोडल पदाधिकारी 104 प्रभारी पदाधिकारी तैनात राजनीतिक दलों के साथ हुई बैठक लोक सभा चुनाव को लेकर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के साथ जिलाधिकारी ने बैठक की। बैठक में आदर्श आचार संहिता और चुनाव व्यय से संबंधित चुनाव आयोग के महतवपूर्ण निर्देशों से कार्यकर्ताओं को अवगत कराया।

चुनाव प्रचार के लिए धार्मिक स्थलों का प्रयोग नहीं करने और सभा व रैली के लिए पूर्व अनुमति लेने का निर्देश दिया गया। इसके अलावा कई और भी निर्देश दिये गये। बैठक में भाजपा के हेमन्त कुमार जैन, जदयू के जिलाध्यक्ष यदुनाथ चुद्रवंशी, राजद के जिलाध्यक्ष लेताफत हुसैन, कांग्रस के अरूण कुमार सिंह, बसपा के शैलेन्द्र कुमार सहित कई लोग थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रत्याशियों के खर्च पर रहेगी विशेष नजर