DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा अब अछूत नहीं : पासवान

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान ने सफाई दी है कि राजद और कांग्रेस ने ऐसी स्थिति पैदा कर दी थी कि हमें मजबूरी में यूपीए छोड़ना पड़ा। अब तक दोनों दलों का गठबंधन साफ नहीं हो सका है। राजद खुद 25 सीट और कांग्रेस को 15 सीट देना चाह रही थी। अंतिम समय में हमें दो-चार सीट देकर छोड़ दिया जाता।

उन्होंने दावा किया कि भाजपा अब अछूत नहीं रही। एनडीए में शामिल होने के बाद बुधवार को प्रदेश कार्यालय पटना में अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में लोजपा सुप्रीमो ने कहा कि गठबंधन दो महीने पहले हो जाता। उस समय भाजपा ने 12 सीटों का ऑफर दिया था, लेकिन भावनात्मक संबंधों के कारण ही साथ नहीं छोड़ रहा था। एनडीए में होने पर पार्टी का ग्राफ आगे बढ़ रहा था। यूपीए में जाने के बाद पार्टी का ग्राफ घटने लगा था।

पार्टी हित को देखते हुए ही एनडीए में शामिल होने का निर्णय लिया। श्री पासवान ने कहा कि लोजपा के साथ ही रालोसपा के एनडीए में शामिल होने से भाजपा मजबूत हुई है। सेक्यूलरिज्म और नरेंद्र मोदी के मुद्दे पर कहा कि 12 साल पहले की घटना है। एक युग बदल गया। कब तक उस घटना को ढोते रहेंगे।

नीतीश व लालू मित्र हैं, उनके प्रति कोई अनादर का भाव नहीं है। सब को पता चल गया लोजपा का क्या है अस्तित्व। उन्होंने कहा कि जदयू से भी बात चली पर पासवान समुदाय के लोगों ने यह कहते हुए आपत्ति जताई कि दलित-महादलित कर वर्तमान सरकार ने छल किया है।

पहले लोजपा को माइनस कर देखा जा रहा था। अब सभी को पता चल रहा है कि लोजपा का अस्तित्व क्या है। एनडीए में रहते हुए लोजपा अपने मूल मुद्दों पर काम करेगी। सात सीटों जमुई, मुंगेर, हाजीपुर, समस्तीपुर, नालंदा, वैशाली व खगडिम्या में लोजपा चुनाव लड़ेगी।

हाजीपुर से खुद के चुनाव लड़ने की बात करते हुए पासवान ने कहा कि अगले एक-दो दिनों में अन्य सीटों पर प्रत्याशी घोषित कर दिए जाएंगे। जहां-जहां लोजपा रही है, सरकार उसी की बनी है।

इस बार भी वही होगा। मौके पर संसदीय दल के अध्यक्ष चिराग पासवान, रामा सिंह, सूरजभान, पशुपति कुमार पारस, रामचंद्र पासवान आदि नेता मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपा अब अछूत नहीं : पासवान