DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राशन कार्ड से लेकर आवास तक का इंतजार और बढ़ा

हाथरस। कार्यालय संवाददाता। लोक सभा के आम चुनाव की घोषणा के साथ ही आदर्श आचार संहिता भी अस्तित्व में आ गई है। इस दौरान ऐसा कोई भी काम नहीं होगा जिससे मतदाता प्रभावित हो सकें। आचार संहिता लागू होने की संभावना फरवरी के अंतिम सप्ताह में जताई जा रही थी। इंतजार के बीच मार्च के पहले सप्ताह में बुधवार को भारत निर्वाचन आयोग ने आखिरकार इसकी घोषणा कर ही दी।

आचार संहिता लागू होते ही नए विकास कार्यो के स्वीकृत होने पर रोक लग गई है। यही कारण है कि आचार संहिता लागू होने की जानकारी होते ही सरकारी अमला तमाम वित्तीय योजनाओं में तेजी से काम करने में जुट गया है। कोशशि की गई कि बैक डेट में योजनाओं को स्वीकृत कर दिया जाए। वैसे कई विभागों ने आचार संहिता की संभावना के दृष्टिगत एहतियात बरता है, कई अहम निर्माण व लाभार्थीपरक कामों को निपटा दिया है। +टाउनशिप में आवास आवंटन थमा :जलेसर रोड पर 952 आवासों का निर्माण लगभग पूरा है।

शहरी गरीबों को इसका आवंटन किया जाना है। आदर्श आचार संहिता लागू होने से इनका आवंटन फिलहाल नहीं हो सकेगा। बीती एक मार्च को ही जिला नगरीय विकास अभिकरण ने पात्रों से आवास आवंटन के लिए आवेदन मांगे थे। ‘नया सवेरा नगर विकास योजना’ के तहत इन आवासों का आवंटन होना था। बसपा सरकार ने कांशीराम शहरी विकास योजना के तहत आवास निर्माण शुरू कराए थे। सपा सरकार आने पर निर्माण कार्य बेहद धीमी गति से चला। अब भी कुछ काम होना बाकी रह गया है।

निराश्रित विधवा, विकलांग या आश्रयवहिीन ऐसे परिवार जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं उनसे आगामी 15 मार्च तक आवदेन पत्र जमा करने को कहा गया था।

देरी ने अटकाए नए राशन कार्ड : जिले के चार लाख 46 हजार परिवारों को नए राशन कार्ड जारी करने का काम भी अटक गया है। बीते करीब एक साल से राशन कार्डो को डिजिटाइज करने काम चल रहा था। अब भी जिले के सभी राशन डीलरों से राशनकार्ड धारकों के बारे में पूरी जानकारी नहीं जुट पाई है।

सारी जानकारी को वेबसाइट पर अपलोड किया जाना था। इस काम के लिए कई बार अंतिम तिथि घोषित की गई। आपूर्ति विभाग काम पूरा ही नहीं कर सका। शासन ने मार्च महीने तक नए राशन कार्ड जारी करने की बात कही थी। अब ये काम भी नहीं हो सकेगा। जिला आपूर्ति अधिकारी दीपक कुमार कहते हैं कि इस बारे में फिलहाल कुछ कहा नहीं जा सकता है। यदि जरूरत पड़ी तो निर्वाचन आयोग से अनुमति प्राप्त कर ये काम किया जा सकता है।

पालिका पहले से अलर्ट : नगर पालिका हाथरस के अधिकारियों ने कई अहम नए काम न रुकें इसलिए उनकी स्वीकृति व कार्यादेश जारी करने का काम पूरा कर लिया। नगर पालिका परिषद के बोर्ड ने बीते सप्ताह हुई बैठक में ऐसा प्रस्ताव पास कर लिया है, जिससे इन कामों के भुगतान भी नहीं रुके सकेंगे। नियमानुसार बजट की स्वीकृति के अभाव में 31 मार्च के बाद पालिका के अधिकारी ऐसे तमाम कामों के भुगतान नहीं कर सकते थे। इससे निजात पाने के लिए ही बोर्ड ने एक प्रस्ताव पास कर लिया है, जिसके अनुसार चुनाव के दौरान भी इन कार्यो का भुगतान हो सकेगा।

ं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राशन कार्ड से लेकर आवास तक का इंतजार और बढ़ा