DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नैक टीम ने खाया छात्रों के हाथ से बना खाना

लखनऊ कार्यालय संवाददाता। लखनऊ विश्वविद्यालय में नैक मूल्यांकन का अंतिम दिन था। सुबह टीम सबसे पहले न्यू कैंपस पहुंची। यहां पर नैक टीम के लिए होटल मैनेजमेंट ने छात्रों ने अपने हाथों से कई तरह की डशि तैयार की थी। इसमें सैंडविच से लेकर कटलेट और कई मिठाई भी थी। मूल्यांकन के लिए आई टीम को जब यह जानकारी हुई कि यह सबकुछ छात्रों ने किया है।

तो उन्होंने सभी छात्रों से मुलाकात की और उनकी हौसला अफजाई भी की। टूरिज्म विभाग ने टीम के सामने अपना प्रेजेंटेशन दिया और यहां पर चलने वाले कोर्सो की भी जानकारी दी। नैक टीम के सामने टूरिज्म विभाग ने छात्रों के टूर संबंधी फोटोग्राफ भी रखें। इसके साथ कैंपस में ही स्थित फूड प्रोडक्शन लैब भी दिखाई। इस पर टीम ने अपनी खुशी जाहिर की। नैक टीम ने न्यू कैंपस स्थित इंटरनेशनल हॉस्टल में रहने वाले विदेशी छात्रों से मुलाकात की।

टीम ने छात्रों से कोर्सो के बारे में पूछा जिसमें वह पढ़ रहे है। साथ ही उन्होंने छात्र कहां से आए है और विश्वविद्यालय में उनको कैसा लग रहा हैं। यह भी जानकारी हासिल की। इसके बाद टीम लॉ विभाग पहुंची, जहां पर शिक्षकों ने उनको लीगल ऐड हास्पिटल दिखाए। यहां पर मौजूद सुविधाएं देखकर टीम ने अपनी खुशी का इजहार किया। शिक्षकों ने यहां पर टीम के सामने अपनी प्रजेंटेशन दी और कोर्सो के बारे में भी बताया। टीम ने आईएमएस का दौरा भी किया।

यहां पर चल रहे एमबीए कोर्सो और प्लेसमेंट के बारे में पूछताछ की। आईएमएस में कई विषयों में एमबीए कोर्स चलाए जाते हैं। टीम ने हर कोर्स के बारे में पूछा और छात्रों से भी मुलाकात की। छात्रों से उनके प्लेसमेंट के बारे में जानकारी हासिल की। कुछ शिक्षकों ने टीम के सामने अपनी भी उपब्धियां बता चाही लेकिन टीम ने उनको यह रोक दिया। टीम का कहना था कि वह विश्वविद्यालय की उपलब्धियां जांचने के लिए आई हैं। वही, दूसरी टीम ने पुराने परिसर स्थित लाल बहादुर शास्त्री हॉस्टल समेत कई विभागों को दौरा किया।

इसमें सबसे पहले टीम एलबीएस हॉस्टल पहुंची। यहां पर उन्होंने हॉस्टल में रहने वाले छात्रों से मुलाकात की और मेस में मिलने वाले खाने की क्वालिटी के बारे में जाना। इसके साथ हॉस्टल में स्पोर्ट को लेकर क्या गतविधिियां आयोजित कराई जाती है। टीम ने यह भी जाना। करीब 40 मिनट यहां पर गुजारने के बाद टीम पत्रकारिता विभाग पहुंची। विभाग के डॉ मुकुल श्रीवास्तव ने उनको अपना प्रजेंटेशन दिया और छात्रों ने टीम के सामने स्वयं तैयार की गई फिल्म सीधे बात नो बकवास प्रस्तुत की।

इसके अलावा टीम ने रिन्यूबेल एनर्जी विभाग का दौरा किया। इसमें शिक्षकों ने टीम को विश्वविद्यालय में सौर उर्जा से पैदा होने वाली बिजली के बारे में जानकारी दी। यहां पर कई जगह पर सौर उर्जा से बिजली जलाई जाती हैं। ं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नैक टीम ने खाया छात्रों के हाथ से बना खाना