DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहारा प्रमुख पर स्याही फेंकने वाले को जेल भेजा गया

नई दिल्ली वरिष्ठ संवाददाता। सुप्रीम कोर्ट परिसर में बीते मंगलवार को सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत राय पर काली स्याही फेंकने वाले वकील मनोज शर्मा को अदालत ने तहिाड़ जेल भेज दिया। असल में वह अपनी जमानत के लिए अदालत में मुचलका पेश करने में नाकाम रहे। मनोज को विशेष कार्यकारी मजिस्ट्रेट राय सिंह खत्री के समक्ष पेश किया गया। पुलिस ने शर्मा को हिरासत में दिए जाने की मांग नहीं की। इसके बाद शर्मा को 11 मार्च तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

पुलिस ने शर्मा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। इनमें धारा 107 (उकसाना) और 151 (हटने का आदेश दिए जाने के बाद भी जानबूझकर पांच या ज्यादा लोगों के साथ एकत्र रहना) शामिल है। मजिस्ट्रेट ने शर्मा को जमानत दे दी लेकिन अपनी और से मुचलका पेश करने में नाकाम रहने के बाद मनोज को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। पुलिस ने मजिस्ट्रेट को सूचित किया कि शर्मा कई अन्य मामलों में सुनवाई का सामना कर रहे हैं और वह कथित तौर पर मानसिक रूप से अस्थिर हैं।

वकील शर्मा ने राय पर उस समय स्याही फेंकी थी जब सहारा प्रमुख को एक मामले में सुप्रीम कोर्ट लाया जा रहा था। पुलिस ने अदालत को बताया कि शर्मा इसके पहले अप्रैल 2010 में कांग्रेस नेता सुरेश कलमाडी पर भी चप्पल फेंक चुके हैं। शर्मा को ग्वालियर के एसडीएम के साथ कथित तौर पर मारपीट करने के आरोप में भी एक बार गिरफ्तार किया गया था। प्राधिकारों में भ्रष्टाचार को साबित करने के लिए 2005/06 में मनोज ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र हासिल कर लिया था।

पुलिस ने कहा कि शर्मा के परिवार में उनकी पत्नी और तीन बच्चों हैं। वह ग्वालियर बार काउंसिल के संयुक्त सचवि रह चुके हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सहारा प्रमुख पर स्याही फेंकने वाले को जेल भेजा गया