DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत को 140 किमी प्रतिघंटे वाले गेंदबाज चाहिए: ली

भारत को 140 किमी प्रतिघंटे वाले गेंदबाज चाहिए: ली

आईसीसी विश्व कप 2015 फाइनल में अपनी घरेलू टीम ऑस्ट्रेलिया और मौजूदा चैम्पियन भारत के बीच मैच की इच्छा रखने वाले पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने कहा कि गत चैम्पियन टीम की सबसे बड़ी चुनौती इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट से पूर्व ऐसे गेंदबाजों की तलाश है जो 140 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी कर पाएं।
     
ली ने कहा कि मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच फाइनल शानदार और बेजोड़ होगा। स्टेडियम खचाखच भरा होगा। भारत के बल्लेबाज काफी अच्छे हैं और उसके स्पिनर शानदार हैं।
     
टूरिज्म विक्टोरिया द्वारा आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में ली ने कहा कि लेकिन उन्हें ऐसे गेंदबाजों की तलाश करने की जरूरत है जो 140 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी कर सकते हों। भारत को दिखाना होगा कि उसके पास दबदबा बनाने वाले तेज गेंदबाज हैं क्योंकि विकेट तेज और उछाल भरे होंगे। सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए उन्हें तेज गेंदबाज ढूंढने होंगे।
     
एमसीजी ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में 14 फरवरी को शुरू होने वाले आईसीसी विश्व कप के फाइनल की 29 मार्च को मेजबानी करेगा। ली आईसीसी विश्व कप और विक्टोरिया टूरिज्म के ब्रैंड दूत हैं।

ली ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के प्रदर्शन में सुधार के लिए बायें हाथ के तेज गेंदबाज मिशेल जॉनसन को काफी श्रेय दिया। ऑस्ट्रेलिया को पिछले साल इंग्लैंड में एशेज़ में हार के अलावा भारत में टेस्ट सीरीज़ में वाइटवॉश का सामना करना पड़ा था।
    
उन्होंने कहा कि यह सामान्य सी बात है। ऑस्ट्रेलिया 2015 विश्व कप की मेजबानी करेगा और हमें इसके लिए तैयार रहना चाहिए। मिशेल जॉनसन शानदार रहा और उसने अपनी मूछ के साथ पासा पलटकर रख दिया। वह तेज और आक्रामक है और उसने ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट का चेहरा बदल दिया।
    
ली ने कहा कि इसके अलावा (विकेटकीपर बल्लेबाज) ब्रैड हैडिन और कोच डेरेन लीमैन भी हैं जिन्होंने खिलाड़ियों को अधिक सहज बनाया। उन्होंने शानदार क्रिकेट खेला और काफी अच्छी टीम लग रहे हैं। ली ने जॉनसन की सफलता का श्रेय इंडियन प्रीमियर लीग को दिया क्योंकि ऐसा समय ऐसा लग रहा था कि ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट में उनकी भूमिका लगभग समाप्त हो गई है।
    
उन्होंने कहा कि वह आईपीएल में मुंबई इंडियन्स की ओर से खेला जिसने उसे दबाव में तेज गेंदबाजी करने का मौका दिया। उसने दोबारा तेज गति से गेंदबाजी करके और अपने खेल को विकसित करके ऑस्ट्रेलिया में सभी को प्रभावित किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत को 140 किमी प्रतिघंटे वाले गेंदबाज चाहिए: ली