DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भ्रष्टाचार में आईआरएस अधिकारी को कैद

दिल्ली की एक दवा कम्पनी से आठ लाख रुपये रिश्वत लेने के लिए अदालत ने आईआरएस अधिकारी को पांच वर्ष की कैद की सजा सुनाई है। साकेत स्थित सीबीआई स्पेशल जज दिनेश कुमार शर्मा की अदालत ने मेरठ के आयकर के तत्कालीन अतिरिक्त निदेशक (जांच) सतीश कुमार को भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के विभिन्न प्रावधानों के तहत दोषी मानते हुए जेल की सजा सुनाई है।

अदालत ने 1989 बैच के भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी पर 50 हजार का जुर्माना लगाते हुए कहा कि अगर वरिष्ठ अधिकारी भ्रष्टाचार करते हैं तो उनसे अलग तरह का व्यवहार होना चाहिए। पेश मामले में सीबीआई ने मैनकाइंड फार्मा लिमिटेड के प्रबंध निदेशक रमेश जुनेजा की शिकायत पर अप्रैल 2006 में कुमार के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया था। जुनेजा ने आरोप लगाए थे कि आईआरएस अधिकारी ने उनसे 30 लाख रुपये की मांग की है। सीबीआई ने कहा कि 20 मई 2006 को शिकायतकर्ता (जुनेजा) ने कुमार के आवास पर उनसे मुलाकात की और उक्त बैठक में आरोपी ने शिकायतकर्ता के खिलाफ जांच की धमकी देते हुए इस तरह के उत्पीड़न से बचने के लिए 30 लाख रुपये की मांग की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भ्रष्टाचार में आईआरएस अधिकारी को कैद