DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंतजार होता रहा, नहीं आए सीएम हेमंत

गिरिडीह प्रतिनिधि। जिला झामुमो के 41वें स्थापना दिवस समारोह में मुख्यमंत्री सह पार्टी नेता हेमंत सोरेन के आने का इंतजार मंगलवार देर रात तक होता रहा, लेकिन वह नहीं आए। समारोह हर साल की तरह झंडा मैदान में जनसैलाब के बीच मनाया गया। पार्टी के केन्द्रीय व्यावसायिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष सुदवि्य कुमार सोनू एवं पूर्व विधायक सालखन सोरेन ने संयुक्त रूप से झंडोत्तोलन कर कार्यक्रम का आगाज किया।

इसके पहले कार्यकर्ताओं ने पारंपारिक मांदर, ढोल-नगाड़े के साथ पूरे शहर में जुलूस निकाला और शक्ति-प्रदर्शन किया। स्थापना समारोह को बारी-बारी से अतिथियों ने सम्बोधित किया। नेताओं ने हेमंत सरकार की कई उपलब्धियां गिनाईं।

चुनावी रणनीति और संगठन मजबूती पर कार्यकर्ताओं में जोश भरा गया। बीच-बीच में सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया गया। बता दें कि समारोह में सीएम हेमंत के अलावा मंत्रियों और विधायकों को भी आना था। हर प्रखंड और पंचायत से कार्यकर्ता छोटी-बड़ी गाड़ियों में लदकर आए थे।

सीएम और मंत्रियों की गैरमौजूदगी का एहसास मिटाने के लिए नेता कार्यकर्ताओं में जोश भरते रहे। सभास्थल पर देर संध्या तक छोटी-बड़ी गाड़ियों से कार्यकर्ताओं का आना-लगा रहा। अध्यक्षता पंकज ताह ने की, जबकि संचालन संजय सिंह ने किया।

अतिथियों में याकूब अंसारी, धनेश्वर मंडल, अजीत कुमार पप्पू, सईद अख्तर, भोला सिंह, हिंगमुणी, रमेश चन्द्रवंशी आदि नेताओं की उपस्थिति देखी गई। खाली हाथ हवाईअड्डा से लौटे डीसी, एसपी तय समय पर पुलिस-प्रशासन का काफिला सीएम हेमंत को लाने बोड़ाे हवाई अड्डा पहुंच गया।

डीसी दीप्रवा लकड़ा, एसपी क्रांति कुमार, एसडीओ जुल्फीकार अली समेत कई वरीय अफसर हवाईअड्ड़े में करीब पौन घंटे तक डटे रहे। इस दौरान अफसर सीएम का इंतजार करते रहे। लम्बे इंतजार के बाद पता चला कि खराब मौसम के कारण सीएम हवाई मार्ग की बजाय सड़क मार्ग से सभास्थल गिरिडीह झंडा मैदान पहुंचेंगे। इसके बाद अधिकारियों का काफिला खाली हाथ लौट आया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंतजार होता रहा, नहीं आए सीएम हेमंत