अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चोरी के माल के लिए भिड़ंत, दो मारे गये

‘जैसा करम करोगे वैसा फल देगा भगवान।’ गीता का यह ‘ज्ञान’ शनिवार की देर रात उस समय चरितार्थ हुआ जब चोरी का माल बंटवारा करने के दौरान ठठेरा गिरोह के अपराधी आपस में भिड़ गये। दानापुर थानांतर्गत त्रिभुवन पार्क के समीप हुई इस खूनी भिड़ंत में दो अपराधी बंटी और रंजीत मार गये जबकि सरगना सन्नी ठठेरा समेत अन्य भाग निकले। बंटी को जहां गोली लगी वहीं रंजीत को चाकू व अन्य धारदार हथियार से गोंद डाला। इसमें सरगना की ही अहम भूमिका बताई जाती है। रविवार की सुबह सूचना मिलने पर पुलिस रंजीत की लाश बरामद करने में लगी थी तभी थोड़ी ही दूरी पर गोली लगने से घायल बंटी के मिलने की खबर मिली। तत्काल उसे पीएमसीएच भेजा गया जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।ड्ढr ड्ढr सूत्रों ने बताया कि कुख्यात रल डकैत सत्या सोनार (स्व.) का दाहिना हाथ रहे गुड्डू ठठेरा का भतीजा सन्नी ठठेरा है जिसके गिरोह ने इन दिनों नगर के विभिन्न कालोनियों में ताबड़तोड़ चोरी की घटनाओं को अंजाम देकर पुलिस-पब्लिक की नींद उड़ा दी है। लंबे समय से पुलिस इस गिरोह की तलाश में लगी है। एएसपी निशांत कुमार तिवारी ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला आपसी भिड़ंत का नतीजा लगता है। पुलिस अन्य संभावनाओं को भी टटोल रही है। इधर मृतक बंटी की मां ने दानापुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराते हुए सन्नी ठठेरा व सुनील चौधरी को नामजद किया है। ज्ञात हो कि दानापुर पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये जाने के बाद कुछ ही समय पहले सन्नी जेल से जमानत पर बाहर निकला था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चोरी के माल के लिए भिड़ंत, दो मारे गये